नई दिल्‍ली: चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के खिलाफ 178 रनों के लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी कोलकाता नाइट राइडर्स की पारी का पहला ही ओवर था. ओपनर क्रिस लिन ने नगिदी की गेंद पर दो छक्‍के लगाए और अंतिम गेंद पर आउट होकर चलते बने. केकेआर को दो बार चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले रोबिन उथप्‍पा भी पांचवें ओवर में 9 रन बनाकर आउट हुए तो लगा कोलकाता की जीत की उम्‍मीदें कमजोर पड़ने लगी हैं.

इसकी वजह भी थी. नंबर चार पर नियमित बल्‍लेबाजी करने वाले नीतीश राणा चोट के चलते इस मैच से बाहर थे. मैदान पर उतरे 18 साल के शुभमन गिल जो आईपीएल का अपना पहला सीजन खेल रहे हैं. उनके सामने गेंदबाज थे अनुभवी शेन वाटसन. शुभमन ने पहली गेंद रक्षात्‍मक तरीके से खेली. वाटसन ने दूसरी गेंद स्‍लो ऑफकटर डाली. शुभमन क्रीज में पीछे गए, गेंद का इंतजार किया और फिर शानदार टाइमिंग के साथ गेंद को स्‍क्‍वायर लेग बाउंड्री के बाहर भेज दिया. कमेंटेटर अभी इस शॉट की तारीफ कर ही रहे थे कि अगली गेंद पर उन्‍होंने विकेटकीपर के बगल से चौका जड़ दिया. वे इतने पर ही नहीं रुके. ओवर की आखिरी गेंद पर उन्‍होंने प्‍वॉइंट बाउंड्री की ओर चौका लगा दिया.

पंजाब Vs मुंबई : मुकाबले की तैयारी, कोई स्‍वीमिंग पूल में बॉलीबॉल खेल रहा तो यूनिवर्स बॉस बहा रहे जिम में पसीना, देखें वीडियो और तस्‍वीरें

शुभमन ने पहली छह गेंदें जिस अंदाज में खेलीं, उससे यह तो स्‍पष्‍ट हो गया कि वे आक्रामक अंदाज में बैटिंग करने आए हैं, लेकिन मैदान पर टिकना भी टीम की जरूरत थी. लक्ष्‍य बड़ा था और केकेआर तीन विकेट खो चुकी थी. लेकिन शुभमन तो जैसे इन सब बातों से अनजान थे. उनके चेहरे पर दबाव का नामोनिशान नहीं था. रन रेट बढ़ने के बाद भी उन्‍होंने कोई हड़बड़ाहट नहीं दिखाई. मानो उन्‍हें पक्‍का भरोसा हो कि अंतिम ओवर्स में वे तेजी से रन बनाने में सफल होंगे. रिंकू सिंह के आउट होने के बाद कप्‍तान दिनेश कार्तिक मैदान पर आए, तब भी बड़े शॉट्स शुभमन ही लगा रहे थे.

मुंबई इंडियंस और किंग्‍स इलेवन पंजाब के बीच मुकाबले पर इंडिया डॉट कॉम का फेसबुक लाइव

मैदान पर शुभमन की बल्‍लेबाजी का तरीका काफी हद तक महेंद्र सिंह धोनी की याद दिला रहा था. शुभमन गेंदबाजों पर भी नजर रख रहे थे और मन ही मन यह योजना बना रहे थे कि उन्‍हें किस गेंदबाज के खिलाफ बड़े शॉट लगाने हैं. उन्‍होंने हरभजन सिंह और ड्वेन ब्रावो की गेंदों पर ज्‍यादा जोखिम नहीं लिया, लेकिन जैसे ही के एम आसिफ गेंदबाजी के लिए आए, उन्‍होंने हाथ खोल दिए. पहली गेंद पर मिड विकेट के ऊपर और चौथी गेंद पर प्‍वॉइंट के ऊपर से सिक्‍सर लगाकर उन्‍होंने गेंद और रनों के बीच का अंतर कम कर दिया. रही सही कसर कप्‍तान दिनेश कार्तिक ने ओवर की अंतिम गेंद पर छक्‍का लगा कर पूरी कर दी.

गेल फेल… डिविलियर्स फेल… धोनी ने बनाई सबकी रेल, IPL में तीसरी बार जड़े इतने छक्के

18वें ओवर में जब केकेआर ने लक्ष्‍य हासिल कर लिया तब भी शुभमन मैदान पर डटे थे. टीवी कमेंटेटर से लेकर मैदान के बाहर बैठे एक्‍सपर्ट्स तक उनकी तारीफ करते नहीं थक रहे थे. सबका मानना था कि वे जिस तरह अपने शॉट्स लगाते हैं, वह काफी हद तक विराट कोहली के जैसा है, लेकिन मैदान पर उनकी बैटिंग का अंदाज महेंद्र सिंह धोनी से मिलता जुलता है. अंडर 19 वर्ल्‍ड कप में भी उनका यह अंदाज देखने को मिला था. इसमें उन्‍हें प्‍लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था. पाकिस्‍तान के खिलाफ उनकी शतकीय पारी को टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्‍ठ पारियों में गिना जाता है.

धोनी को जीवनदान देने वाला ही बना CSK की हार की वजह, कार्तिक ने बताया ‘स्पेशल’

शुभमन अभी युवा हैं और उनका क्रिकेट करियर शुरू हुआ है. धोनी या कोहली से फिलहाल उनकी तुलना ठीक नहीं है, लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि वे स्‍पेशल टैलेंट हैं. इसमें भी कोई शक नहीं कि मैच फिनिश करने का उनका अंदाज धोनी जैसा है, जिन्‍हें वर्ल्‍ड क्रिकेट के सर्वश्रेष्‍ठ फिनिशर में गिना जाता है.