पालेकल: कोलिन डि ग्रैंडहोम (59) और टाम ब्रूस (53) की अर्धशतकीय पारियों और दोनों के बीच चौथे विकेट की 103 रन की साझेदारी से न्यूजीलैंड ने दूसरे टी20 मुकाबले में दो गेंद शेष रहते श्रीलंका को चार विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली. श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में नौ विकेट पर 161 रन बनाये जिसके जवाब में न्यूजीलैंड ने 19.4 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 165 रन बनाकर जीत दर्ज की.

 

न्यूजीलैंड की शुरूआत अच्छी नहीं रही और दूसरे ओवर में ही सलामी बल्लेबाज कोलिन मुनारो (13) आउट हो गये. वह अकीला धनंजय की गेंद पर कैच आउट हुए. धनंजय ने इसके बाद अपने दूसरे ओवर में तीन गेंद के अंदर स्कॉट कुगेलिन (08) और टिम सीफर्ट (15) को चलता कर न्यूजीलैंड को दबाव में ला दिया. धनंजय ने चार ओवर में 36 रन देकर तीन विकेट लिये. इसके बाद ग्रैंडहोम और ब्रूस शतकीय साझेदारी कर टीम को जीत के करीब ले गये. इस साझेदारी को इसुरु उदाना (18 रन पर एक विकेट) ने ग्रैंडहोम को आउट कर तोड़ा. ग्रैंडहोम ने 46 गेंद में दो चौके और तीन छक्कों की मदद से 59 रन बनाये.

 

ब्रूस ने 53 गेंद की पारी में तीन चौके लगाये. 19वें ओवर में उनकी मांसपेशियों मे खिंचाव आ गया और 20वें ओवर की पहली गेंद पर वह रन आउट हो गये. अगली गेंद पर डेरेल मिशेल भी आउट हो गये लेकिन हसरंगा डिसिल्वा के इस ओवर की अगली दो गेंद पर छक्का और चौका लगाकर मिशेल सेंटेनर ने न्यूजीलैंड को मैच जीता दिया. इससे पहले टास जीतकर बल्लेबाजी के लिए उतरी श्रीलंकाई टीम को पहला झटका पांचवें ओवर में सेथ रेंस (33 रन पर तीन विकेट) ने दिया जिन्होंने कुसाल मेंडिस (26) को कप्तान टिम साउदी के हाथों कैच कराया. आठ गेंद बाद दूसरे सलामी बल्लेबाज कुसाल परेरा (11) भी ईश सोढ़ी (34 रन पर एक विकेट) का शिकार बने.

अविष्का फर्नांडो (37) और विकेटकीपर निरोशन डिकवेला (39) इसके बाद पारी को संभाला. दोनों अच्छी शुरूआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे लेकिन उनके बीच 68 रन साझेदारी कर सम्मानजनक स्कोर की नींव रखी. चार गेंद के अंदर दोनों बल्लेबाजों के आउट होने से टीम बैकफुट पर आ गयी. फर्नांडो ने साउदी (18 रन पर दो विकेट) की गेंद पर आउट होने से पहले 25 गेंद की पारी में तीन चौके और एक छक्का लगाया. डिकवेला रेंस का दूसरा शिकार बने. उन्होंने 30 गेंद में तीन चौके और एक छक्का लगाया. शनाका जयसूर्या ने हाथ खोलना शुरू किया ही था कि साउदी ने उन्हें पवेलियन की राह दिखा दी. उन्होंने 13 गेंद में 20 रन बनाये.