नयी दिल्ली: बलात्कार के आरोपों का सामना कर रहे सौम्यजीत घोष को राष्ट्रमंडल खेलों के लिये भारत की टेबल टेनिस टीम से बाहर करके अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है. टीटीएफआई ने एक बयान में कहा, ‘‘भारतीय टेबल टेनिस महासंघ ने सौम्यजीत घोष को अस्थायी रूप से निलंबित किया है. एक युवती ने उन पर लगाये गए बलात्कार के आरोप के संदर्भ में पुलिस मामले की जांच पूरी होने और अदालत का फैसला आने तक वह निलंबित रहेंगे.’’ Also Read - Rape Charges on Table Tennis Player Soumyajit Ghosh hard to play in Commonwealth Games। रेप के आरोप से घिरे टेबल टेनिस खिलाड़ी सौम्यजीत घोष का कॉमनवेल्थ गेम्स में खेलना मुश्किल

Also Read - indian table tennis became head coach Massimo costantini | भारतीय टेबल टेनिस टीम के मुख्य कोच बने कोस्टेंटीनी

पिता एलपीजी सिलेंडर की डिलिवरी देते हैं, बेटा IPL 2018 के लिए 80 लाख में बिका

इसमें कहा गया, ‘‘निलंबन के दौरान वह किसी भी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भाग नहीं ले सकेंगे. सौम्यजीत पर आईपीसी की धाराओं के तहत बलात्कार, आपराधिक षडयंत्र, महिला की सहमति के बिना गर्भपात कराने और धोखेबाजी के आरोप लगाये गए हैं.’’

जर्मनी में अभ्यास में जुटे सौम्यजीत ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि आरोप लगाने वाली लड़की संबंध खत्म होने के बाद उन्हें ब्लैकमेल कर रही थी और यह उनका कैरियर खत्म करने की साजिश है.

IPL ऑक्शन के पहले दिन अनसोल्ड रहने के बाद विजय को मिले थे कई ऑफर्स

टीटीएफआई ने कहा, ‘‘टीटीएफआई के कार्यकारी बोर्ड ने मीडिया रपटों और सौम्यजीत घोष के खिलाफ दायर एफआईआर पर संज्ञान लेते हुए सर्वसम्मति से उन्हें निलंबित करने का फैसला किया है. वह आगामी आदेश तक किसी भी टूर्नामेंट में भाग नहीं ले सकेंगे.’’ बता दें कि इससे पहले घोष ने उन पर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि वो इसके खिलाफ कानूनी सहारा लेंगे.