साल 2007 में टी20 विश्व कप जीतने वाले भारतीय टीम के मैनेजर रहे लालचंद राजपूत (Lalchand Rajput) का मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) और सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का मिश्रण है। राजपूत का मानना है कि गांगुली की भारत में क्रिकेट खेलने के तरीके में बदलाव लाने में एक बड़ी भूमिका रही और धोनी इसे आगे ले गए।Also Read - MS Dhoni का 'क्रिकेटिया दिमाग' सबसे तेज, Greg Chappell ने तारीफ में पढ़े कसीदे

राजपूत ने स्पोटर्सक्रीड़ा से कहा, “गांगुली खिलाड़ियों को आत्मविश्वास देते थे और उन्होंने भारतीय टीम की मानसिकता में बदलाव किया और मुझे लगता है कि धोनी इसी चीज को लेकर आगे गए। अगर धोनी को लगता कि किसी खिलाड़ी में काबिलियत है, वो उन्हें पूरे मौके देने की कोशिश करते थे।” Also Read - 'फोन उठाओ और एक दूसरे से बात करो': कपिल देव ने विराट कोहली-सौरव गांगुली को देश के बारे में सोचने की सलाह दी

पूर्व मैनेजर ने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो वो काफी शांत रहते हैं। एक कप्तान को मैदान पर रहते हुए फैसले लेने होते हैं और वो दो कदम आगे की सोचते हैं। एक चीज जो मुझे उनकी अच्छी लगती है कि वो सोचने वाले कप्तान हैं। उनकी कप्तानी में राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली का मिश्रण है। गांगुली काफी आक्रामक और सोचने वाले कप्तान थे लेकिन वो सकारात्मक थे।” Also Read - …मैं सोचता रहा ये मुझसे ज्‍यादा बोल क्‍यों नहीं रहे हैं, हार्दिक ने बताया कैसा था डेब्‍यू मैच में धोनी का व्‍यवहार

धोनी को भारतीय क्रिकेट का सबसे सफल कप्तान माना जाता है। उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने टेस्ट में नंबर एक रैंकिंग हासिल करने के साथ तीन आईसीसी ट्रॉफी जीती। टीम इंडिया ने धोनी की कप्तानी में 2007 में टी20 विश्व कप, 2011 में वनडे विश्व कप और 2013 में चैंपियंस
ट्रॉफी जीती है।