BCCI अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की दिल का दौरा पड़ने के बाद अब हालत स्थिर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को गांगुली को फोन कर उनकी सेहत का हालचाल जाना. पीएम मोदी ने इस मौके पर गांगुली की पत्नी डोना से भी बात की है और उन्हें हर संभव मदद देने को कहा. शनिवार को गांगुली को माइल्ड हार्ट अटैक आने के बाद डॉक्टरों को उनकी इमर्जेंसी एंजियोप्लास्टी करनी पड़ी थी. Also Read - क्या कोरोना वैक्सीन से हुई कोई मौत, पीएम मोदी ने कन्फर्म कर टिप्स भी दिए, पढ़ें बड़ी बातें

सौरव गांगुली कोलकाता के वुडलैंड्स हॉस्पिटल में अपना इलाज करा रहे हैं. उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि दादा की हालत अब स्थिर है. उनके इलाज के लिए 10 सदस्यों की कमिटी बनाई गई है, जो देश भर के कार्डियक एक्सपर्ट्स (हृदय रोग विशेषज्ञों) से चर्चा कर यह तय किया जाएगा कि क्या उन्हें एक और सर्जरी की जरूरत है. Also Read - Coronavirus Vaccination: दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना वैक्सिनेशन प्रोग्राम शुरू, पीएम मोदी ने कहा- भारत के लिए ये गौरव का दिन

48 वर्षीय सौरव गांगुली के इलाज के लिए देश के जाने-माने कार्डियक सर्जन और नारायणा हॉस्पिटल के संस्थापक डॉ. देवी शेट्टी सोमवार को कोलकाता पहुंचेंगे. पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि देवी शेट्टी गांगुली का इलाज करने वाले मेडिकल बोर्ड का नेतृत्व करेंगे, शेट्टी ही यह निर्णय लेंगे कि क्या गांगुली को एक और एंजियोप्लास्टी की जरूरत है या नहीं. Also Read - Covid 19 Vaccination: कुछ देर में शुरू होगा टीकाकरण अभियान, पढ़ें 10 खास बातें

इससे पहले शनिवार को सौरव गांगुली जब अपना जिस सेशन कर रहे थे, तो अचानक उनकी आंखों के आगे अंधेरा छा गया. उन्हें तुरंत हॉस्पिटल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद पाया कि पूर्व भारतीय कप्तान की तीनों धमनियों में ब्लॉकेड है. डॉक्टरों ने तुरंत उनकी एक धमनी (आर्टरी) की एंजियोप्लास्टी की.