सीमित ओवरों के क्रिकेट में पिछले करीब डेढ़ साल से कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने अपनी जगह बेहद मजबूती के साथ बना रखी थी, लेकिन इस जोड़ी को विंडीज और साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के दौरान टी20 टीम में मौका नहीं दिया गया. भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली का मानना है कि टी20 क्रिकेट में चहल की मौजूदगी भारतीय टीम के लिए बेहद जरूरी है.

विश्व कप में लगी चोट की वजह से क्रिकेट के मैदान से दूर हैं महेंद्र सिंह धोनी

टाइम्‍स ऑफ इंडिया से बातचीत के दौरान गांगुली ने कहा, “मैं उम्‍मीद करता हूं कि युजवेंद्र चहल को केवल बाकी युवाओं को चांस देने के लिए ही आराम दिया गया है. अन्‍यथा चहल की मौजूदगी सीमित ओवरों के क्रिकेट में अनिवार्य है. विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया को दो बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाजों की जरूरत नहीं है.”

कुलदीप यादव भले ही विंडीज और साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 टीम का हिस्‍सा नहीं रहे हों लेकिन उन्‍हें साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के स्‍क्‍वाड में शामिल किया गया है. उम्‍मीद की जा रही है कि उन्‍हें प्‍लेइंग इलेवन में जगह भी दी जाए. सौरव गांगुली का मानना है कि भारत को टेस्‍ट सीरीज अच्‍छी पिचों पर खेलनी है. जहां ज्यादा टर्न नहीं मिलती. ऐसे में देखना होगा कि कुलदीप यहां कैसे खुद को ढालते हैं. भारत सभी पिचों पर एक अच्‍छी टीम है.”

डीन जोन्स ने की रिषभ पंत की आलोचना, युवराज सिंह के बयान से असहमति जताई

बता दें कि विराट कोहली की टीम ने बीते करीब एक साल से भारतीय सरजमीं पर कोई टेस्‍ट मैच नहीं खेला है. पिछले साल अक्‍टूबर में टीम इंडिया ने वेस्‍टइंडीज के खिलाफ भारत में टेस्‍ट सीरीज खेली थी.