भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के भावी अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट संबंध बहाल करना भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान की मंजूरी से जुड़ा विषय है.

PM नरेंद्र मोदी और शेख हसीना को भारत बनाम बांग्लादेश टेस्ट मैच में आने का निमंत्रण

गांगुली से संवाददाता सम्मेलन के दौरान जब भारत- पाकिस्तान द्विपक्षीय श्रृंखला बहाल करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘आपको यह सवाल मोदी जी ओर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से पूछना चाहिए.’

पूर्व कप्तान ने कहा, ‘निश्चित तौर पर हमें (अनुमति) लेनी होगी, क्योंकि सभी अंतरराष्ट्रीय दौरे सरकार के जरिये होते हैं. इसलिए हमारे पास इस सवाल का जवाब नहीं है.’

भारत और पाकिस्तान के बीच आखिरी द्विपक्षीय श्रृंखला 2012 में खेली गई थी जबकि भारत ने दो टी20 और तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिये पाकिस्तान की मेजबानी की थी.

भारत दौरे से पहले बांग्लादेश को सता रहा इस बात का डर, मुख्य चयनकर्ता को देना पड़ा ये बयान

गांगुली की अगुवाई में भारत ने 2004 में पाकिस्तान का ऐतिहासिक दौरा किया था. यह 1999 में कारगिल युद्ध के बाद दोनों देशों के बीच पहली द्विपक्षीय श्रृंखला थी और भारतीय टीम 1989 के बाद पहली बार पाकिस्तान दौरे पर गई थी.

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी हमले पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बीसीसीआई ने पाकिस्तान के संदर्भ में आईसीसी से ‘आतंकवाद को प्रश्रय देने वालों देशों से संबंध तोड़ने’ की अपील की थी.

यह पत्र तीन सदस्यीय प्रशासकों की समिति (सीओए) की तरफ से भेजा गया था जो बीसीसीआई चुनाव होने तक बोर्ड के कामकाज को संभाल रही है.