भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने शनिवार को बंगाल क्रिकेट संघ (CAB) के अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाल लिया। गांगुली ने  सीएबी की 88वीं वार्षिक आम बैठक (AGM) में ये कार्यभार संभाला। गांगुली दूसरी बार सीएबी के अध्यक्ष बने हैं। 2015 में जगमोहन डालमिया के निधन के बाद गांगुली ने पहली बार सीएबी अध्यक्ष पद को संभाला था।

गांगुली 2014 में सीएबी की वर्किंग कमेटी का हिस्सा था और संयुक्त सचिव के पद पर थे। वो अब 2020 तक सीएबी के अध्यक्ष रहेंगे और इसके बाद बीसीसीआई के नए संविधान के मुताबिक कूलिंग ऑफ पीरियड पर चले जाएंगे।

गांगुली ने संवाददाताओं से कहा, “मैं खुश हूं, हालांकि ये 10 महीनों के लिए ही है लेकिन ये लंबा समय है। मैं नहीं जानता कि अगला कदम क्या होगा। देखते हैं क्या होता है।”

माही भाई के आउट होने के बाद मैं अपने आंसू नहीं रोक पा रहा था’

पूर्व क्रिकेटर स्नेहाशीष गांगुली और गार्गी बनर्जी को शीर्ष परिषद के सदस्यों के तौर पर नामित किया गया है। सीएजी का प्रतिनिधि शीर्ष परिषद का 19वां सदस्य होगा जो वर्किंग कमेटी का स्थान लेगी।

गांगुली ने कहा, “पहले इतनी बड़ी संस्था को चलाने के लिए कम अधिकारी होते थे लेकिन ये अच्छा है कि हमारे पास ज्यादा लोग हैं।”

जगमोहन डालमिया के बेटे अविशेक डालमिया अब सचिव होंगे। पहले वे संयुक्त सचिव थे। देबब्रत दास को संयुक्त सचिव चुना गया है। देबाशीष गांगुली को कोषाध्यक्ष चुना गया है।