BCCI अध्यक्ष बनने के बाद सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट का ढांचा सुधारने की दिशा में एक महत्‍वपूर्ण कदम उठाने की ओर इशारा किया है. गांगुली का कहना है कि जल्दी ही भारत में प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों के लिये भी करार व्यवस्था लागू की जायेगी ताकि खिलाड़ियों की माली हालत सुधारी जा सके और उन्‍हें वित्तीय सुरक्षा दी जा सके.

पढ़ें:- BCB चीफ का बड़ा बयान, ‘खिलाड़ियों की मांगों को मानकर मैंने गलती की

न्‍यूज एजेंसी PTI से बातचीत के दौरान दादा ने कहा कि खिलाड़ियों की वित्‍तीय स्थिति उनकी प्राथमिकता है और वह मैच फीस में बढ़ोतरी करना चाहते हैं.

‘शीर्ष अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों की तरह घरेलू क्रिकेटरों के लिये भी भुगतान का सुव्यवस्थित ढांचा होना चाहिये . हम प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों के लिये करार व्यवस्था लेकर आयेंगे. हम नयी वित्त (उप) समिति को करार व्यवस्था तैयार करने के लिये कहेंगे’

नए बीसीसीआई अध्‍यक्ष ने साफ किया ,‘‘ अगले दो सप्ताह का वक्‍त लगेगा. इस दौरान में सभी चीजों का आकलन करूंगा और आगे के बारे में फैसला लूंगा. इस  दिशा में काफी काम चल रहा है.’’

पढ़ें:- BCCI अध्‍यक्ष बनने के बाद NCA अध्‍यक्ष राहुल द्रविड़ से मिलेंगे दादा, ये है मीटिंग का एजेंडा

बता दें कि मौजूदा व्‍यवस्‍था के तहत विभिन्‍न राज्‍यों के अंतर्गत खेलने वाले खिलाड़ियों को फिलहाल प्रति मैच में 35 हजार प्रतिदिन के हिसाब से भुगतान किया जाता है. घरेलू क्रिकेटर को सालाना 25 से 30 लाख रूपये मिलते हैं . प्रसारण अधिकारों से मिलने वाले सकल राजस्व का 13 प्रतिशत भी घरेलू क्रिकेटरों में बांटा जाता है.