बीसीसीआई के अध्यक्ष बनने जा रहे पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने क्रिकेट विश्व कप को हर तीन साल में करवाने के आईसीसी के विचार पर मंगलवार को कुछ प्रतिक्रिया देने से बचते हुए कहा कि कई बार जिंदगी में कम ही अधिक होता है.

पढ़ें:- फुटबॉल: भारत ने बांग्लादेश को 1-1 से ड्रॉ पर रोका, क्वालीफाई की उम्मीदों को झटका

विश्व कप का पहला आयोजन 1975 में हुआ था जिसके बाद आमतौर पर हर चार साल में इसका आयोजन होता है. हालांकि 1992 में यह पांच साल और 1999 में तीन साल के अंतराल पर हुआ था.

गांगुली ने बंगाल क्रिकेट संघ के कार्यालय में पत्रकारों से कहा, ‘‘कई बार जिंदगी में कम ही अधिक होता है. ऐसे में हमें कुछ भी फैसले करने से पहले सचेत रहना होगा. फुटबाल विश्व कप का आयोजन हर चार साल में होता है जहां उसकी दीवानगी देखते ही बनती है.’’

पढ़ें:- लगातार 2 मैच जीतने के बाद जापान से हारी जूनियर हॉकी टीम

बीसीसीआई में अध्यक्ष पद का नामांकन दखिल करने के बाद यहां पहुंचे गांगुली का शानदार स्वागत हुआ. उनका 23 अक्टूबर को बीसीसीआई का अध्यक्ष चुना जाना लगभग तय है.

आईसीसी के नये प्रस्ताव में टी20 विश्व कप हर साल और 50 ओवरों का विश्व कप तीन साल में एक बार कराने की पेशकश है.

पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘ इस बारे में फैसला आईसीसी को करना है. मैं अभी इस पर प्रतिक्रिया देने की स्थिति में नहीं हूं. जब मैं इस चर्चा का हिस्सा बनूंगा तब इस बारे में बात करूंगा.’’