नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट के दो बड़े दिग्गज सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर ने कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप मुकाबले में भारत को यह सोच कर मैदान में नहीं उतरना चाहिए कि वे जीत के दावेदार होगे. पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली ने कहा कि भारतीय टीम ने 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान को कम आंकने का खामियाजा भुगत चुकी है.

गांगुली ने कहा, ‘‘ भारत को सावधान रहना होगा, उन्हें मैच में यह सोच कर नहीं जाना चाहिए कि वे जीत के दावेदार है. मुझे लगता है कि उन्होंने 2017 में आईसीसी चैम्पियंस ट्राफी में ऐसा (पाकिस्तान को कम आंकने की गलती) किया था और पाकिस्तान ने उन्हें हरा दिया था. यह शानदार मुकाबला होने वाला है.’’

मास्टर ब्लास्टर ने भी कहा कि भारतीय टीम को चिर प्रतिद्वंदवी को हलके में नहीं लेना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘ पाकिस्तान की टीम हमेशा से अप्रत्याशित रही है और वे एक खतरनाक टीम है. ऐसे में भारतीय टीम उन्हें हलके में नहीं लेगी. भारतीय टीम जो भी कदम उठाएगी उसके लिए पूरी तरह आश्वस्त होना होगा. पूरी योजना और तैयारी के साथ मैच के लिए जाना होगा.’’

सचिन के लिए विश्वकप 2011 जीत के बाद पाक के खिलाफ 2003 का मैच सबसे यादगार

दोनों दिग्गजों ने माना कि भारत और पाकिस्तान का मुकाबला क्रिकेट मैच से कही अधिक का होता है. गांगुली ने कहा, ‘‘ दोनों देशों के बीच मुकाबले को लेकर लोगों की भावनाएं चरम पर होती है और काफी रोमांच होता है. ऐसे में रविवार को मैनचेस्टर में होने वाला मुकाबला काफी बड़ा होने वाला है. कप्तान के तौर पर मैं 2003 – 04 में पहली बार पाकिस्तान गया था. हम पहले वहां कभी नहीं जीते थे लेकिन उस दौरे पर टेस्ट और एकदिवसीय दोनों में जीत दर्ज करने में सफल रहे. पाकिस्तान के खिलाफ खेलने की मेरी यादें भारतीय क्रिकेट का सुनहरा दौर रहा है.’’

तेंदुलकर ने भी 2003 दौरे की तैयारियों को याद करते हुए कहा, ‘‘ एक साल पहले (2002) हमने एकदूसरे के खिलाफ खेला था और लोग इस दौरे की चर्चा करने लगे थे. लोग कहते थे कि कुछ भी हो जाए हमें हारना नहीं चाहिए.’’

भारत-पाक मैच से पहले मैनचेस्टर में बढ़ी सुरक्षा, ICC ने पूरी की तैयारी

दिग्गज स्पिन अनिल कुंबले ने कहा कि दोनों देश एक दूसरे के खिलाफ नहीं बहुत कम खेलते है इसलिए इस मुकाबले को लेकर उम्मीदें काफी बढ़ जाती है. उन्होंने कहा, ‘‘अगर आपको विश्व कप जीतना है तो आपको लगातार टीमों को हराना होगा. भारत-पाकिस्तान के मैच हमेशा से सबसे बड़ा मुकाबला होता है. आईसीसी को भी यह पता है, उन्होंने मैच के लिए जैसे ही टिकट की बिक्री शुरू की 15 मिनट के अंदर सारे टिकट बिक गये, भारत- पाकिस्तान के मैच का यह महत्व है.’’