दुनिया में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर अभी कंट्रोल में नहीं आता दिख रहा है. कई पेशेवर लोगों को इस वायरस के चलते बार-बार अपना टेस्ट करवाना पड़ रहा है. बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) भी उन्हीं में एक हैं. गांगुली ने बताया कि वह बीते साढ़े 4 महीने में कोविड- 19 (Covid- 19 Test) के 22 बार टेस्ट करवा चुके हैं. Also Read - भारत से हार के बाद ऑस्ट्रेलिया पर फूटे Shane Warne, बोले- अब होंगे बड़े बदलाव

बीसीसीआई अध्यक्ष हाल ही में आईपीएल के 13वें सीजन के लिए यूएई पहुंचे हुए थे, जहां इस बार इस लीग का बायो सिक्योर बबल में आयोजन किया गया. गांगुली सितंबर के मध्य से आईपीएल के फाइनल (10 नवंबर) तक वहां मौजूद थे. Also Read - भारत की एतिहासिक जीत के बाद CA ने BCCI को लिखा खुला पत्र, बोले- कभी नहीं भूल पाएंगे...

टीम इंडिया के इस पूर्व कप्तान ने एक वर्चुअल मीडिया कॉन्फ्रेंस में ‘लिविंगार्ड एजी’ के ब्रांड एम्बेसडर के तौर पर कहा, ‘मैं आपको बताऊं कि बीते साढ़े 4 महीनों में मैंने 22 बार कोविड-19 जांच कराई है और एक बार भी पॉजिटिव नहीं आया. मेरे आस पास के लोग कोविड-19 पॉजिटिव मिले थे, इसलिए मुझे भी कोविड-19 परीक्षण कराने पड़े.’ Also Read - IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया की हार पर आई Ricky Ponting की प्रतिक्रिया, कही यह दर्दभरी बात

उन्होंने कहा, ‘मैं अपने वृद्ध माता-पिता के साथ रहता हूं और मैंने दुबई की यात्रा की. शुरू में मैं काफी चिंतित था, खुद के लिए नहीं, बल्कि समुदाय के लिए, आप किसी को संक्रमित नहीं करना चाहते.’

इस बातचीत के दौरान उन्होंने टीम इंडिया के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी बात की. टीम इंडिया यूएई से ही ऑस्ट्रेलिया रवाना हो गई थी, जहां उसने अनपा आइसोलेशन पीरियड पूरा कर लिया है. भारतीय टीम 27 नवंबर से सिडनी में वनडे सीरीज से इस दौरे का आगाज करेगी.

48 वर्षीय इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा, ‘खिलाड़ी फिट हैं और ठीक हैं. साथ ही ऑस्ट्रेलिया में कोविड-19 मामलों की संख्या भी ज्यादा नहीं है, जहां सीमाएं भी कुछ समय के लिए बंद कर दी गई थीं. फिर भी वे अंतरराष्ट्रीय यात्रा को लेकर काफी ज्यादा सख्त हैं, आपको 14 दिन के कड़े पृथकवास में रहना पड़ता है इसलिए लड़के अब मैदान पर उतरने के लिए तैयार हैं.’

गांगुली ने साथ ही कहा कि उन्हें गर्व है कि उनकी बीसीसीआई टीम ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का सफल आयोजन किया और उन्हें उम्मीद है कि अगले सत्र में इसका आयोजन भारत में ही होगा. कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण आईपीएल का आयोजन इस साल यूएई में कराया गया.

इस मौके पर उन्होंने कहा, ‘करीब 400 लोग ‘बायो-बबल’में थे, सभी के सुरक्षित और स्वस्थ रहने के लिए ढाई महीनों के अंदर 30-40 हजार परीक्षण कराए गए.’

इनपुट: भाषा