नई दिल्ली. पुलवामा हमले का कनेक्शन पाकिस्तान से होने से भारत का आक्रोश चरम पर है. भारतीय खेल जगत भी ये गुस्सा खुलकर नजर आ रहा है. यही वजह है कि वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से नहीं खेलने तक कि मांग उठ रही है. हरभजन सिंह और वीवीएस लक्ष्मण सरीखे क्रिकेटर्स तो पहले ही पाकिस्तान से न खेलने की वकालत कर चुके है. भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली दो कदम आगे बढ़ते हुए सिर्फ क्रिकेट ही नहीं बल्कि पाकिस्तान से सभी प्रकार के खेलों से दूरी बना लेने की बात कही है.

भज्जी को दादा का समर्थन

गांगुली ने हरभजन की बात को जायज ठहराते हुए कहा कि वर्ल्‍डकप के एक मैच में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलने से भारत की संभावनाओं पर असर नहीं पड़ेगा. गांगुली ने कहा, ‘यह 10 टीमों का वर्ल्‍डकप है और हर टीम, दूसरी टीम के साथ खेलेगी. मुझे लगता है कि अगर भारत वर्ल्‍डकप में एक मैच नहीं खेलता है तो यह कोई बहुत ज्‍यादा असर नहीं डालेगा.

क्रिकेट ही नहीं, सारे खेलों से करो ‘आउट’

सौरव गांगुली के मुताबिक, ‘मुझे लगता है कि आईसीसी के लिए भारत के बिना वर्ल्‍डकप में जाना काफी मुश्किल होगा. लेकिन आपको यह भी देखना होगा कि क्या भारत में आईसीसी को ऐसी चीज करने से रोकने की ताकत है. वैसे, निजी तौर पर मुझे लगता है कि कड़ा संदेश दिया जाना चाहिए.’ गांगुली ने कहा कि इस घटना के बाद पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने की कोई संभावना नहीं बची है. अब भारत को पाकिस्तान के साथ क्रिकेट, हॉकी या फुटबॉल ही नहीं बल्कि सभी संबंध तोड़ लेने चाहिए. ‘