भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) के सबसे सफल कप्तानों में से एक सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) बीसीसीआई के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकते हैं। ब्रजेश पटेल के इस पद पर कब्जा करने के बाद गांगुली के अपना नामांकन पेश करने की खबरें हैं। ब्रजेश को पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन का समर्थन मिल रहा था।

पीटीआई से बातचीत में खबर से जुड़े एक अधिकारी ने कहा, “हां, ब्रजेश एन श्रीनिवासन के समर्थन के साथ अध्यक्ष पद के लिए खड़ा हुआ था। हालांकि उसके खिलाफ कुछ विरोध था। हमें खुशी है कि सौरव नए अध्यक्ष हैं।”

बीसीसीआई अध्यक्ष पद का चुनाव गांगुली और पटेल के बीच ही था। और पटेल ने आखिरकार गांगुली को निर्विरोध उम्मीदवार चुन लिया, ताकि वो आईपीएल चेयरमैन बन सकें।

क्रिकेट के शुभचिंतक काफी समय से गांगुली के बीसीसीआई के अध्यक्ष पद पर देखना चाहते थे लेकिन बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन का अध्यक्ष होने की वजह से पूर्व क्रिकेटर इस पद के लिए उम्मीदवारी नहीं पेश कर सकते थे। सितंबर 2020 में कैब अध्यक्ष पद पर गांगुली का दूसरा कार्यकाल खत्म होगा, जिसके बाद बोर्ड के अंतर्गत कोई और पद स्वीकार करने से पहले उन्हें कूलिंग पीरियड से गुजरना होगा।

दुती चंद ने 200 मीटर फर्राटा दौड़ में गोल्ड के साथ किया सीजन का अंत

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के जय शाह बोर्ड के नए सेक्रेटरी हो सकते हैं। वहीं अरुण धूमल को नया कोषाध्यक्ष बनाया जा सकता है। धुमल पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के भाई हैं। सोमवार को नामांकन भरने के आखिरी दिन है लेकिन चुनाव नहीं होगा क्योंकि काफी विचार विमर्श के बाद सभी उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए हैं।