राष्ट्रीय टीम का लंबे समय तक एक साथ प्रतिनिधित्व करने वाले सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) क्रमश: BCCI अध्यक्ष और राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के प्रमुख के तौर पर भारतीय क्रिकेट के भविष्य का खाका तैयार करने के लिए बुधवार को बेंगलुरु में मुलाकात करेंगे.

द्रविड़ ने जुलाई में एनसीए प्रमुख का कार्यभार संभाला था. उन्होंने इस संस्था के लिए भविष्य की योजना का खाका तैयार कर रखा है. जब दोनों पूर्व कप्तानों की मुलाकात होगी तब द्रविड़ अपने विचार साझा करेंगे.

पढ़ें:- शाकिब अल हसन को देना होगा नोटिस का जवाब : बीसीबी

इस बैठक में बीसीसीआई ने सभी नवनिर्वाचित पदाधिकारी भाग लेंगे. 30 अक्टूबर को होने वाली बैठक में एनसीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी तूफान घोष भी शामिल होंगे.

गागुली ने कहा, ‘‘ हां, मेरे पास एनसीए को पुर्नजीवित करने की योजना है और मैं 30 अक्टूबर को बेंगलुरु जा रहा हूं.’’  गांगुली और द्रविड़ पहले भी बीसीसीआई की तकनीकी समितियों का एक साथ हिस्सा रह चुके है. ऐसी ही एक बैठक की अध्यक्षता गांगुली ने की थी जबकि द्रविड़़ उसमें अंडर-19 और ए टीम के मुख्य कोच के तौर पर भाग लिया था.

एनसीए को भारतीय क्रिकेट की ‘सप्लाई लाइन’ माना जाता है लेकिन पिछले कुछ वर्षों से यह रिहैब केंद्र सा बन गया है. गांगुली ने भी अध्यक्ष बनने के बाद इस बात को माना.

पढ़ें:- AUSvsSL: मिशेल स्‍टार्क ने दूसरे टी20 मुकाबले से बनाई दूरी, ये है वजह

ऐसी संभावना है कि गांगुली एनसीए की नयी परियोजना की जानकारी लेंगे, जिसे विकसित किया जा रहा है. बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा,‘‘गांगुली और द्रविड़ एनसीए की भविष्य की योजना और उसके सामने आने वाले मुद्दों पर चर्चा करेंगे.’’

यह भी देखना होगा कि नये अध्यक्ष प्रतिबंध से वापसी कर पृथ्वी शा जैसे खिलाड़ियों की रिहैबिलिटेशन योजना के अलावा जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पंड्या के स्ट्रेंथ और अनुकूलन कार्यक्रम पर कितनी दिलचस्पी लेते है. दिग्गज खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण और राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री को भारतीय क्रिकेट के दो बड़े खिलाड़ियों की मुलाकात से काफी उम्मीदें है.

लक्ष्मण ने पिछले सप्ताह कहा था, ‘‘अगर आप मुझ से एक चीज पूछेंगे तो मेरी दिलचस्पी इस बात पर होगी कि सौरव (गांगुली) कैसे पुनर्जीवित करते है. इस भारतीय टीम की मजबूती इसकी बेंच स्ट्रेंथ के कारण है.’’