वेलिंगटन।  बाएं हाथ के स्पिनर केशव महाराज के करियर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट के तीसरे ही दिन शनिवार को यहां न्यूजीलैंड को आठ विकेट से हरा दिया।

दक्षिण अफ्रीका ने इसके साथ ही तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 की अजेय बढ़त बना ली है। महाराज ने दूसरी पारी में 40 रन देकर छह विकेट चटकाए जिससे न्यूजीलैंड की टीम 171 रन पर ढेर हो गई। तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्कल ने इससे पहले मेजबान टीम के शीर्ष क्रम को ध्वस्त करते हुए 50 रन देकर तीन विकेट हासिल किए।

दक्षिण अफ्रीका को 81 रन का लक्ष्य मिला जो उसने 25 ओवर में दो विकेट पर 83 रन बनाकर हासिल कर लिया। हाशिम अमला ने नाबाद 38 जबकि जेपी डुमिनी ने नाबाद 15 रन बनाए। टीम ने लक्ष्य का पीछा करने के दौरान दोनों सलामी बल्लेबाजों स्टीफन कुक (11) और डीन एल्गर (17) के विकेट गंवाए।

न्यूजीलैंड की टीम दूसरी पारी में 63.2 ओवर ही टिक सकी। सलामी बल्लेबाज जीत रावल ने सर्वाधिक 80 रन बनाए और बीजे वाटलिंग (29) के साथ छठे विकेट के लिए 65 रन भी जोड़े। इन दोनों के अलावा नील ब्रूम (20) ही 20 रन के आंकड़े तक पहुंच पाए। रावल के आउट होने के साथ न्यूजीलैंड ने अंतिम पांच विकेट 16 रन पर गंवाए। यह रावल का शीर्ष टेस्ट स्कोर है। इससे पहले पिछले साल नवंबर में उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ दो बार 55 रन की पारी खेली थी। यह भी पढ़ें: वेलिंगटन टेस्ट मैच का पूरा स्कोरकार्ड

इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने दिन की शुरुआत नौ विकेट पर 349 रन से की। मोर्कल (40) ने वर्नन फिलेंडर (नाबाद 37) के साथ 10वें विकेट की रिकॉर्ड साझेदारी करके टीम का स्कोर 359 रन तक पहुंचाया। दोनों ने 10वें विकेट के लिए 57 रन जोड़े।

जीतन पटेल ने मोर्कल को बोल्ड करके दक्षिण अफ्रीका की पारी का अंत किया। मोर्कल ने इसके बाद गेंद से न्यूजीलैंड के शीर्ष क्रम को ध्वस्त किया। उन्होंने खराब फॉर्म से जूझ रहे सलामी बल्लेबाज टाम लैथम (06) को पविलियन भेजने के बाद कप्तान केन विलियम्सन :01: और नील ब्रूम (20) की पारी का अंत भी किया। तीनों ने विकेट के पीछे कैच थमाया।
विलियम्सन ने मैच में सिर्फ तीन रन बनाए जो उनके 60 टेस्ट में उनका सबसे खराब प्रदर्शन है जिसमें उन्होंने दोनों पारियों में बल्लेबाजी की हो। बाएं हाथ के स्पिनर केशव महाराज ने पहली पारी में शतक जड़ने वाले हेनरी निकोल्स (07) को बोल्ड किया जबकि जिमी नीशाम (04) ने कप्तान फाफ डु प्लेसिस के हाथों कैच कराके न्यूजीलैंड का स्कोर 90 रन पर पांच विकेट कर दिया।