ओवल। क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल हैं. इसमें ना चाहते हुए भी कई रिकॉर्ड बन जाते हैं. कुछ ऐसा ही दक्षिण अफ्रीका की टीम के साथ हुआ. सोमवार को ओवल ग्राउंड में दक्षिण अफ्रीका की टीम ने टेस्ट मैच में एक ऐसा शर्मनाक रिकॉर्ड बना दिया जो इससे पहले टेस्ट इतिहास में कभी नहीं हुआ. टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका ऐसा पहली टीम बनी जिसकी एक पारी में चार खिलाड़ी पहली ही गेंद में शून्य पर आउट हो गए. जी हां, टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब एक पारी में चार खिलाड़ी गोल्डन डक पर चलते बने.

इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन फाफ डु प्लेसिस, वरनोन फिलेंडर, कागिसो राबाडा और मॉर्न मोर्कल पहली ही गेंद पर शून्य पर आउट हुए. इसकी पुष्टि जाने-माने स्टैटीशियन एंड्रू सैंपसन ने ट्वीट करके की है. ओवल ग्राउंड में इंग्लैंड ने शानदार जीत हासिल कर सीरीज में 2-1 से बढ़त बना ली है. तीसरे टेस्ट के चौथे दिन लंच ब्रेक के बाद 492 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की पूरी टीम 252 रनों पर ढ़ेर हो गई.

इंग्लैंड टीम के हरफनमौला खिलाड़ी मोईन अली ने अपने करियर की पहली हैट्रिक ली. मोईन अली की यह हैट्रिक इसलिए भी खास है क्योंकि इंग्लैंड के ‘द ओवल’ में यह ऐतिहासिक 100वां टेस्ट था.

मोइन अली की हैट्रिक के दम पर मेजबान इंग्लैंड ने द ओवल मैदान पर खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के आखिरी दिन सोमवार को दक्षिण अफ्रीका को 239 रनों से करारी मात दी. इस जीत के साथ ही मेजबान टीम ने चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 से बढ़त ले ली है. इंग्लैंड ने मेहमान टीम के सामने चौथी पारी में 492 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था जिसे दक्षिण अफ्रीका हासिल नहीं कर पाई और 252 रनों पर ही ढेर हो गई.

द ओवल मैदान पर यह 100वां टेस्ट मैच था. इस मैदान पर टेस्ट मैचों में यह पहली हैट्रिक है. साथ ही मोइन 79 साल में इंग्लैंड की तरफ से हैट्रिक लेने वाले पहले स्पिन गेंदबाज हैं. उनसे पहले टॉम गोडार्ड ने 1938 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहानसबर्ग में हैट्रिक लगाई थी.

By Aditya Dwivedi