नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ का मानना है कि मौजूदा वनडे सीरीज में भारत के पूरे दबदबे से साबित हो गया है कि दक्षिण अफ्रीका की भावी पीढी अभी दमदार प्रतिद्वंद्वी का सामना करने के लिये तैयार नहीं है. भारत दक्षिण अफ्रीकी सरजमीं पर पहली वनडे सीरीज जीतने की दहलीज पर है.Also Read - T20 World Cup 2021: न्यूजीलैंड के हारने से भारत को मिली सेमीफाइनल की संजीवनी, जानें समीकरण

Also Read - IND vs PAK: सौरव गांगुली ने उजागर की विराट एंड कंपनी की सबसे बड़ी कमजोरी, बोले-हमारे वक्‍त में मैं और वीरू...

स्मिथ ने स्विट्जरलैंड में सेंट मौरित्ज आइस क्रिकेट टूर्नामेंट से इतर कहा, ”भारतीय टीम 3-0 से बढत बनाने की हकदार थी. दक्षिण अफ्रीका के तीन प्रमुख खिलाड़ी एबी डी विलियर्स, फाफ डु प्लेसिस और क्विंटन डीकॉक चोट के कारण बाहर हैं लेकिन इससे यह भी साबित हो गया कि दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटरों की अगली नस्ल अभी कमान संभालने के लिये तैयार नहीं है.” Also Read - T20 World Cup 2021: Virat Kohli मंझे हुए खिलाड़ी, पाक के खिलाफ उन्होंने शानदार पारी खेली: गावस्कर

शॉ और शुभमान को विराट का इशारा, ‘पास करो ‘टेस्ट’ खेलोगे हर मैच’

उन्होंने कहा, ”दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट को देखना है कि वे युवाओं को किस तरह तैयार करेंगे ताकि वे इस स्तर पर अच्छा खेल सकें. मैं उनके प्रदर्शन से बहुत निराश हूं लेकिन भारत को बेहतरीन क्रिकेट खेलने का श्रेय दिया जाना चाहिये.”

दक्षिण अफ्रीका के लिये 117 टेस्ट खेल चुके स्मिथ ने कहा, ”इस समय लग रहा है कि हम सीरीज में बड़ी हार झेलने जा रहे हैं जो निराशाजनक है. विश्व कप 2019 के बाद कई खिलाड़ी टीम में नहीं होंगे और इस सीरीज से पता चल गया है कि नये खिलाड़ियों को काफी मेहनत करनी होगी.”

अफ्रीकी बल्लेबाजों की ‘बत्ती गुल’ कर रही भारतीय फिरकी, विदेशों में पहले नहीं थी ऐसी

स्मिथ को सबसे ज्यादा दुख इस बात का है कि मेजबान बल्लेबाज कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की फिरकी का सामना नहीं कर सके. उन्होंने कहा, ”वे अच्छी बल्लेबाजी कर ही नहीं पाये. मध्यक्रम के पास अनुभव नहीं था लेकिन जेपी डुमिनी और डेविड मिलर तो काफी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल चुके हैं और आईपीएल में भी स्पिन गेंदबाजी का सामना कर चुके हैं.”

उन्होंने चहल और यादव की तारीफ करते हुए कहा कि दोनों ने मुथैया मुरलीधरन और शेन वॉर्न के जाने के बाद फिरकी को फिर दिलचस्प बना दिया है. उन्होंने कहा, ”मुरली और वॉर्न अब नहीं खेलते और क्रिकेट के लिये चहल और यादव का आना अच्छा है. खेल में कोई रहस्यमय स्पिनर नहीं था और इनके मौजूदा प्रदर्शन ने इसे रोमांचक बना दिया है.”