नई दिल्ली. साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के निर्णायक मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया एक नई रणनीति के तहत मैदान पर था. उसने टीम में कोई बदलाव नहीं किए थे पर क्रिस लिन का बैटिंग ऑर्डर बदलकर एक बड़ा दांव खेला था. 3 वनडे मैचों की सीरीज के पहले दो मुकाबलों में लिन बैटिंग ऑर्डर में नंबर 4 पर उतरे थे लेकिन होबार्ट में खेले जा रहे सीरीज डिसाइडर में टीम मैनेजमेंट ने उन्हें ओपन करने के लिए उतारा.

स्टेन ने की ऑस्ट्रेलियाई चाल नाकाम

ऑस्ट्रेलिया की ये चाल तो बड़ी थी लेकिन कामयाब नहीं हो सकी क्योंकि रफ्तार के सौदागर डेल स्टेन ने इसमें सेंध लगा दी. स्टेन ने अपने और ऑस्ट्रेलियाई पारी के पहले ओवर की पहली ही लीगल डिलीवरी पर लिन को आउट कर दिया. स्टेन ने क्रिस लिन को डिकॉक के हाथों कैच कराकर पवेलियन की राह पकड़ाई. सीरीज में पहली बार ओपन करने उतरे लिन ने सिर्फ 1 गेंद खेली और वो खाता भी नहीं खोल सके.

होबार्ट वनडे में ऑस्ट्रेलिया पर हावी साउथ अफ्रीका की ‘D-कंपनी’, ठोके शतक पर शतक

दांव उल्टा अब मैच के नतीजे पर भी संकट

स्टेन के इस बड़े शिकार से ऑस्ट्रेलिया का दांव उल्टा पड़ गया. नतीजा, ये हुआ कि अहम मुकाबले में एक बड़े लक्ष्य के सामने उसकी शुरुआत बेहद खराब रही. जिस मकसद के साथ ऑस्ट्रेलिया ने लिन का बैटिंग ऑर्डर बदला था, उसमें उसे कामयाबी नहीं मिली. और, हो सकता है कि इस असफलता का असर मैच में अब उसके नतीजे पर भी पड़े.