साउथम्पटन। हरफनमौला मोईन अली और सैम कुरेन के बीच सातवें विकेट के लिए 81 रनों की साझेदारी की मदद से इंग्लैंड ने चौथे क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन आज लंच तक भारतीय तेज गेंदबाजों के दिये शुरूआती झटकों से खुद को निकाला. इससे पहले मोहम्मद शमी के दोहरे झटकों के बाद इंग्लैंड का स्कोर एक समय छह विकेट पर 86 रन था. मोईन अली 40 रन बनाकर आउट हुए.

मोईन-कुरेन ने संभाला

दूसरे सत्र में 82 रन बने और दो विकेट गिरे. लंच के बाद जोस बटलर (24) को शमी ने स्लिप में कप्तान विराट कोहली के हाथों लपकवाया. बेन स्टोक्स 79 गेंद में 23 रन बनाकर आउट हुए. शमी ने उन्हें शानदार इनस्विंगर पर पगबाधा किया. इसके बाद अली और कुरेन ने चाय तक मोर्चा संभाले रखा. जसप्रीत बुमराह ने कुछ बेहतरीन गेंदें डाली और 35 रन देकर दो विकेट लिए लेकिन इस साझेदारी को नहीं तोड़ सके. दोनों इंग्लैंड को 39वें ओवर में 100 रन के पार ले गए. इससे पहले भारतीय गेंदबाजों ने लंच तक इंग्लैंड के चार विकेट 57 रन पर निकाल दिए.

इंग्लैंड में जो 130 साल में नहीं हुआ, भारत के तेज गेंदबाजों ने कर दिखाया

इंग्लैंड ने टास जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया. भारतीय टीम में कोई बदलाव नहीं किया गया था. पिछले 39 टेस्ट में पहली बार विराट कोहली ने टीम में कोई बदलाव नहीं किया है. कीटोन जेनिंग्स (00) तीसरे ही ओवर में पगबाधा आउट हो गए. पांचवें ओवर में बुमराह ने जो रूट (4) के खिलाफ पगबाधा की विश्वसनीय अपील की. मैदानी अंपायर ने बल्लेबाज के पक्ष में फैसला दिया और डीआरएस से पता चला कि बुमराह का पैर क्रीज से बाहर था.

दूसरे विकेट के लिए 14 रन जुड़ने के बाद रूट ईशांत का शिकार हुए . कप्तान एलेस्टेयर कुक (17) भी ज्यादा देर टिक नहीं सके. पंड्या ने उन्हें तीसरी स्लिप में कप्तान विराट कोहली के हाथों लपकवाया. वहीं बुमराह ने जानी बेयरस्टा को 13वें ओवर में विकेट के पीछे लपकवाकर इंग्लैंड को एक और झटका दिया.