लंदनः इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोइन अली ने टेस्ट क्रिकेट से ब्रेक लेने का निर्णय लिया है. ऐसा माना जा रहा है कि अली ने ब्रेक लेने का निर्णय बोर्ड को अपनी नाराजगी जाहिर करने के तौर पर लिया है. अली को हाल में केंद्रीय अनुबंध में भी शामिल नहीं किया गया था. हालांकि, उन्हें सीमित ओवर के प्रारूपों के लिए बनाई केंद्रीय अनुबंध की सूची में शामिल किया गया था जो यह दर्शाता है कि वनडे एवं टी-20 में उनकी जगह अभी भी सुरक्षित है.

भारत आ रहे थे डुप्लेसिस, रास्ते में हुआ कुछ ऐसा जिसके बाद जमकर भड़के कप्तान

ब्रेक लेने के कारण मोइन न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज में भी नहीं खेलेंगे. मोइन ने कहा, “मुझे लगता है कि मुझे लंबे प्रारूप से ब्रेक की जरूरत है, लेकिन बड़े ब्रेक की नहीं। हम देखेंगे कि न्यूजीलैंड सीरीज के बाद क्या होता है.” उन्होंने कहा, “केंद्रीय अनुबंध में शामिल न होना निराशाजनक है, लेकिन मैं इसे लेकर परेशान नहीं हूं. क्रिकेट कभी भी मेरे लिए धन के बारे में नहीं रहा है. मैंने हमेशा खुद पर भरोसा किया है और विश्वास करता हूं कि सब कुछ ठीक हो जाएगा.”

रोनाल्डो के बेबाक बोल- गोल पोस्ट में बॉल डालने से ज्यादा सुखद है गर्लफ्रेंड के साथ बिताया गया निजी पल

वहीं मोईन अली वनडे/टी-20 की अनुबंध सूचि में शामिल किए गए हैं. उनके अलावा आर्चर, बेयरस्टो, जोस बटलर, जोए डेनले, इयोन मोर्गन, आदिल राशिद, जोए रूट, जेसन रॉय, बेन स्टोक्स, क्रिस लोक्स, मार्क वुड को जगह मिली है. 32 वर्षीय मोईन अली ने इस ग्रीष्म सत्र में आईसीसी विश्व कप खेला था जिसके बाद वे आयरलैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में खेले थे. फिर उसके फौरन बाद वे एशेज टेस्ट सीरीज के पहले टेस्ट मैच में खेले थे.

सिर्फ कांस्य पदक से संतुष्ट नहीं है पहलवान बजरंग पुनिया, कहा- इसे जीत नहीं मान सकता

मोइन अली ने ऐसे समय में यह निर्णय लिया है जब उन्हें बोर्ड ने टेस्ट अनुबंधित खिलाड़ियों की लिस्ट से बाहर रखा है जो इस बात पर संदेह पैदा कर रहा है कि उनका यह डिसीजन नराजगी भरा है. अली पिछले काफी समय से लगातार क्रिकेट खेल रहे हैं. ईसीबी के मैनेजिंग डायरेक्टर एश्ले जाइल्स ने शुक्रवार को अली के फैसले की पुष्टि करते हुए कहा, “वे टेस्ट क्रिकेट से कुछ समय के अवकाश चाहते हैं,मुझे लगता है कि सभी खिलाड़ियों के लिए, केवल अली के लिए ही नहीं, यह काफी चुनौती भरा गर्मी का मौसम रहा.