Sports News Today 07 February, India vs New Zealand, 2nd ODI: भारतीय क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड दौरे की शुरुआत 5 मैचों की टी20 सीरीज में मेजबान टीम का 5-0 से ‘क्लीनस्वीप’ कर की थी. क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में मेहमान भारत ने कीवियों की एक न चलने दी और पहली बार न्यूजीलैंड में टी20 सीरीज जीतकर इतिहास रच दिया. लेकिन वनडे सीरीज में दोनों टीमों में कुछ बदलाव हुए जिसका असर नतीजे पर भी पड़ा.

दूसरे वनडे से पहले भारतीय फील्डिंग कोच को सता रहा ये डर, बोले-फील्डर को कप्तान के इशारे की जरूरत नहीं

3 मैचों की सीरीज के पहले वनडे में न्यूजीलैंड ने भारत को 4 विकेट से हराकर धमाकेदार वापसी के संकेत दिए. दोनों टीमों के बीच सीरीज का दूसरा वनडे ऑकलैंड के ईडन पार्क में शनिवार को खेला जाएगा. इस मुकाबले में दबाव पूरी तरह से टीम इंडिया पर है. सीरीज में वापसी के लिए भारतीय टीम को इस मैच को हर हाल में जीतना होगा. यदि इस मुकाबले को कीवी टीम जीतने में सफल रहती है तो सीरीज उसके कब्जे में हो जाएगा. ऐसे में कोहली एंड कंपनी के लिए ये मैच ‘करो या मरो’ वाला बन गया है.

भारत का न्यूजीलैंड के खिलाफऑकलैंड में 8 बार वनडे में हुआ है आमना-सामना

वैसे इस मैदान पर रिकॉर्ड की बात करें तो भारत और न्यूजीलैंड की टीमें यहां 8 बार वनडे में आमने-सामने हुई हैं. भारत ने 3 जबकि कीवी टीम ने 4 मैच जीते हैं जबकि एक मुकाबला टाई (2014) रहा है. भारतीय टीम यहां आखिरी बार न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ष 2003 में 1 विकेट से जीती थी.

भारत से टी20 सीरीज की हार का बदला लेने उतरेगा न्यूजीलैंड

वनडे में भारत और न्यूजीलैंड का इस मैदान पर पहली बार आमना-सामना वर्ष 1976 में हुआ था. इस मैच को न्यूजीलैंड ने 80 रन जीता था जबकि 1981 में भी कीवी टीम ने भारत को 78 रन से पराजित किया था. वर्ष 1994 में भारत ने न्यूजीलैंड को 7 विकेट जबकि 1999 में टीम इंडिया ने 5 विकेट से मेजबान टीम को मात दी. साल 2002 में न्यूजीलैंड ने फिर भारत को 3 विकेट से पराजित किया वहीं 2003 में मेहमान टीम ने कीवियों को 1 विकेट से शिकस्त दी. साल 2014 में खेला गया मुकाबला टाई रहा.

347 रन का बचाव नहीं कर पाई टीम इंडिया

भारत ने सीरीज के पहले वनडे में 347 रन बनाए थे. लेकिन हैमिल्टन के सेडन पार्क की छोटी बाउंड्री का कीवियों ने जमकर फायदा उठाया और 11 गेंद बाकी रहते लक्ष्य हासिल कर लिया. न्यूजीलैंड की ओर से रॉस टेलर ने नाबाद शतक लगाया वहीं भारत की ओर से श्रेयस अय्यर ने अपनी पहली इंटरनेशनल सेंचुरी जड़ी.