नई दिल्ली : श्रीलंका टीम के मैनेजर अशांता डे मेल ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से इंग्लैंड एंड वेल्स में जारी विश्व कप में खराब पिचें और खराब ट्रेनिंग व्यवस्था को लेकर शिकायत की है. एक वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीलंकाई मैनेजर ने पिचों को लेकर कहा हैे कि आईसीसी इस मामले में दोहरा व्यवहार कर रही है जबकि आईसीसी ने इन सभी आरोपों को यह कहते हुए सिरे से खारिज कर दिया है कि वह किसी तरह का पक्षपात नहीं कर रही है.

श्रीलंका के दो मैच बारिश की भेंट चढ़ गए जबकि न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए पहले मैच में उसे कार्डिफ में और उसके बाद अफगानिस्तान वाले मैच में घांस युक्त पिचें मिली थीं.

अशांता ने एक अंग्रेजी अखबार से कहा, “हमने जो अभी तक नोटिस किया है कि हमारे जो चार मैच कार्डिफ और ब्रिस्टल में हुए उनमें हमें घांस युक्त विकेट मिली, लेकिन उन्हीं मैदान पर दूसरी टीमों को कम घांस वाली पिचें मिलीं जिन पर बड़ा स्कोर किया जा सकता था.”

VIDEO: मैदान पर वापसी को बेताब धवन, जिम में जमकर बहाया पसीना

इसके अलावा अशांता ने अभ्यास को लेकर आ रही समस्याओं के बारे में कहा, “कार्डिफ में हमें अभ्यास के लिए जो सुविधाएं मिली थीं वो भी अच्छी नहीं थीं. तीन नेट्स की जगह उन्होंने हमें दो नेट्स दिए थे. ब्रिस्टल में हमें जो होटल मिला था उसमें स्वीमिंग पूल भी नहीं था जो हर टीम के लिए काफी जरूरी होता है. ब्रिस्टल में ही पाकिस्तान और बांग्लादेश को जो होटल मिले उसमें स्वीमिंग पूल था.”

विश्वकप 2019: टीम इंडिया के इस खिलाड़ी को देखकर सीख रहे हैं बाबर आजम

अशांता ने बताया, “हमने आईसीसी को इन सभी चीजों के बारे में चार दिन पहले लिखा है, लेकिन अभी तक हमें कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है. हम तब तक आईसीसी को लिखेंगे जब तक हमें इसका कोई जबाव नहीं मिलता.” श्रीलंका को अपना अगला मैच शनिवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलना है.