श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) को उसके पहले टी-20 के आयोजन के लिए खेल मंत्रालय से हरी झंडी मिल चुकी है लेकिन लंका प्रीमियर लीग (एलपीएल) का भविष्य देश की सीमाएं खोलने के सरकार के फैसले पर निर्भर करेगा. बावजूद इसके एसएलसी 8 से 22 अगस्त के बीच इस लीग के आयोजन को लेकर आश्वस्त है. श्रीलंकाई सरकार ने कोविड-19 महामारी के कारण देश के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे फिर से खोलने की तिथि एक अगस्त तक बढ़ा दी है.Also Read - India vs England 1st Test- अपने हुनर पर भरोसा रखता हूं: Mohammed Shami

श्रीलंका क्रिकेट के सचिव एशले डिसिल्वा ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो से कहा, ‘हम महामहिम (राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे) से बात करने की उम्मीद कर रहे हैं और देखते हैं कि किसी नतीजे पर पहुंचते हैं या नहीं. श्रीलंका ने क्षेत्र के अन्य देशों की तुलना में कोरोना वायरस को रोकने के लिए बहुत अच्छा काम किया है और इसलिए विदेशी खिलाड़ी इस टूर्नामेंट में भाग लेने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं. ’ Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में कोरोना से लगभग 43 हजार लोग हुए संक्रमित, 533 लोगों की हुई मौत

1700 से अधिक लोग स्वस्थ हो चुके हैं  Also Read - Covid 19: केरल से तमिलनाडु में एंट्री के नियम हुए सख्त, RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट और वैक्सीनेशन सर्टिफकेट अनिवार्य

श्रीलंका में कोरोना वायरस के 2000 से अधिक ही मामले सामने आये जिसमें 1700 से अधिक स्वस्थ हो चुके हैं. फ्रेंचाइजी आधारित श्रीलंका प्रीमियर लीग में पांच टीमों के भाग लेने की संभावना है. इस टूर्नामेंट की अवधि भारत के दौरे पर निर्भर करेगी जो अभी स्थगित कर दिया गया है. दोनों बोर्ड अगस्त में इसके आयोजन के लिए विकल्पों पर विचार कर रहे हैं.

’23 की जगह 13 मैचों का आयोजन कर सकते हैं’

डिसिल्वा ने कहा, ‘अभी हम टूर्नामेंट में 23 मैचों के आयोजन की सोच रहे हैं लेकिन अगर भारत खेलने के लिए तैयार हो जाता है तो हो सकता है कि हम 13 मैचों का ही आयोजन करें.’