सलामी बल्लेबाज डॉमिनिक सिबले (Dominic Sibley) और विकेटकीपर बल्लेबाज जॉस बटलर (Jos Buttler) की अर्धशतकीय साझेदारी की मदद से इंग्लैंड ने गॉल टेस्ट में 6 विकेट से जीत हासिल कर श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में 2-0 से कब्जा कर लिया।Also Read - एशेज ड्रिंक्स मामले में नई भूमिका सामने आने के बाद बर्खास्त होंगे इंग्लैंड के सहायक कोच ग्राहम थोर्प

मैच के चौथे दिन श्रीलंका के दिए 164 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मेहमान टीम ने एक बार जैक क्राउली (Zak Crawley) का विकेट सस्ते में खो दिया। क्राउली पांचवें ओवर में मात्र 13 रन बनाकर सीरीज में चौथी बार लसिथ इंबुलदेनिया (Lasith Embuldeniya) के शिकार बने। पहला विकेट गिरने के बाद सिबले ने जॉनी बेयरस्टो (Jonny Bairstow) के साथ मिलकर को संभाला लेकिन बेयरस्टो 28 गेंदो पर 29 रन बनाकर इंबुलदेनिया के ओवर में एलबीडब्ल्यू आउट हुए। Also Read - एशेज सीरीज में हार के लिए जो रूट का सीमित ओवर फॉर्मेट पर उंगली उठाना हास्यास्पद है: इयोन मोर्गन

पहली पारी में रिकॉर्ड 186 रन बनाने वाले कप्तान रूट रनों का पीछा करते हुए मात्र 11 बना सके और रमेश मेंडिस की गेंद पर बोल्ड हो गए। कप्तान के जाने के बाद डेनियल लॉरेंस (2) भी सस्ते में आउट हुए। Also Read - VIDEO: एशेज जीत के बाद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने रात भर मनाया जश्न, बुलानी पड़ी पुलिस

89 रन पर चार विकेट खोने के बाद सिबली को बटलर का साथ मिला। दोनों बल्लेबाजों ने पांचवें विकेट के लिए 75 रनों की मैचविनिंग साझेदारी बनाई। सिबली 144 गेंदो पर 56 रन बनाकर लौटे और बटलर 48 गेंदो पर 46 रन बनाकर नाबाद रहे। इन पारियों की बदौलत इंग्लैंड ने 43.3 ओवर में 164 रन बनाकर दूसरा टेस्ट 6 विकेट से जीता और दो मैचों की सीरीज में श्रीलंका को क्लीन स्वीप किया।

पहली पारी में शतक जड़ने वाले रूट को मैन ऑफ द मैच के साथ मैन ऑफ द सीरीज का खिताब भी मिला। रूट ने दो मैचों में 106.50 की धमाकेदार औसत से 426 रन बनाए। दूसरे टेस्ट में श्रीलंका के स्पिनर इंबुलदेनिया ने टेस्ट करियर में पहली बार एक मैच में 10 विकेट लिए।