श्रीलंका क्रिकेट टीम के सीमित ओवर फॉर्मेट के खिलाड़ी इसुरु उडाना (Isuru Udana)  ने बोर्ड के साथ वेतन के साथ हुए विवाद के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया।Also Read - टीम इंडिया के 2021-22 के सीजन शेड्यूल का ऐलान; न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज, श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होगी सीरीज

श्रीलंका क्रिकेट ने कहा कि 33 साल के ऑलराउंडर तत्काल प्रभाव से राष्ट्रीय कर्तव्यों से सेवानिवृत्त हो रहे हैं। Also Read - श्रीलंका क्रिकेट के सालाना कॉन्ट्रेक्ट से बाहर हुए एंजेलो मैथ्यूज और तीन निलंबित क्रिकेटर

बोर्ड ने उडाना के इस्तीफे के हवाले से कहा, “मेरा मानना ​​है कि मेरे लिए अगली पीढ़ी के खिलाड़ियों के लिए जगह बनाने का समय आ गया है।” Also Read - मैं स्‍वीमिंग पूल के पास बैठा था, राहुल द्रविड़ मेरे पास आए, बोले- नमस्‍ते चेतन, मैं राहुल…

हालांकि उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि राष्ट्रीय टीम के लिए नई प्रदर्शन-आधारित वेतन योजना का विरोध करने वाले प्रमुख खिलाड़ी उडाना विदेशी लीग में खेलने के लिए राष्ट्रीय टीम को छोड़ रहे हैं।

श्रीलंका क्रिकेट ने बाद में सभी खिलाड़ियों के लिए सालाना कॉन्ट्रेक्ट की पेशकश को वापस ले लिया और कहा कि वो केवल टूर्नामेंट-दर-टूर्नामेंट के आधार पर खिलाड़ियों को साइन अप करेंगे और जो भी इससे अहमत है वो टीम को छोड़ सकते हैं।

उडाना ने भारत के खिलाफ हालिया टी20 सीरीज में हिस्सा लिया था। इससे पहले, उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भाग लिया था।

उडाना की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई, लेकिन उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि उनकी नजर कैरेबियन और भारत में होने वाले कई लीग टूर्नामेंटों पर है।

उनके एक करीबी सूत्र ने एएफपी को बताया, “राष्ट्रीय टीम में खेलने से उन्हें जो फीस मिलती है, वो विदेशों में क्लबों के लिए खेलने से मिलने वाली फीस से बहुत कम है।”

उडाना ने अपने नौ साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में 21 वनडे, 34 टी20 और 10 आईपीएल मैच खेले थे।