श्रीलंका क्रिकेट टीम के सीमित ओवर फॉर्मेट के खिलाड़ी इसुरु उडाना (Isuru Udana)  ने बोर्ड के साथ वेतन के साथ हुए विवाद के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया।Also Read - एशिया कप में भारत के निराशाजनक प्रदर्शन पर बोले पुजारा- हमें अच्छी बल्लेबाजी करना सीखना होगा

श्रीलंका क्रिकेट ने कहा कि 33 साल के ऑलराउंडर तत्काल प्रभाव से राष्ट्रीय कर्तव्यों से सेवानिवृत्त हो रहे हैं। Also Read - Rohit Sharma: 'निराश होने की जगह कप्‍तानी में धार लाएं रोहित शर्मा' पूर्व पाक दिग्‍गज की सलाह

बोर्ड ने उडाना के इस्तीफे के हवाले से कहा, “मेरा मानना ​​है कि मेरे लिए अगली पीढ़ी के खिलाड़ियों के लिए जगह बनाने का समय आ गया है।” Also Read - रॉबिन उथप्पा का कड़ा बयान, अपनी ही गलती से एशिया कप 2022 से बाहर हुई टीम इंडिया

हालांकि उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि राष्ट्रीय टीम के लिए नई प्रदर्शन-आधारित वेतन योजना का विरोध करने वाले प्रमुख खिलाड़ी उडाना विदेशी लीग में खेलने के लिए राष्ट्रीय टीम को छोड़ रहे हैं।

श्रीलंका क्रिकेट ने बाद में सभी खिलाड़ियों के लिए सालाना कॉन्ट्रेक्ट की पेशकश को वापस ले लिया और कहा कि वो केवल टूर्नामेंट-दर-टूर्नामेंट के आधार पर खिलाड़ियों को साइन अप करेंगे और जो भी इससे अहमत है वो टीम को छोड़ सकते हैं।

उडाना ने भारत के खिलाफ हालिया टी20 सीरीज में हिस्सा लिया था। इससे पहले, उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भाग लिया था।

उडाना की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई, लेकिन उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि उनकी नजर कैरेबियन और भारत में होने वाले कई लीग टूर्नामेंटों पर है।

उनके एक करीबी सूत्र ने एएफपी को बताया, “राष्ट्रीय टीम में खेलने से उन्हें जो फीस मिलती है, वो विदेशों में क्लबों के लिए खेलने से मिलने वाली फीस से बहुत कम है।”

उडाना ने अपने नौ साल के अंतरराष्ट्रीय करियर में 21 वनडे, 34 टी20 और 10 आईपीएल मैच खेले थे।