नई दिल्ली: कुसाल परेरा की जांबाज पारी और दिलरूवान परेरा के साथ उनकी 63 रन की अटूट साझेदारी से श्रीलंका ने वेस्टइंडीज को तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में चार विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर करायी. श्रीलंका के सामने 144 रन का लक्ष्य था लेकिन उसकी शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. उसने चौथे दिन की शुरुआत पांच विकेट पर 81 रन से की लेकिन इसी स्कोर पर कुसाल मेंडिस (25) का विकेट गंवा दिया.Also Read - टेस्ट शतक जड़ श्रेयस अय्यर ने पूरी की कोच प्रवीण आमरे की ये शर्त, भारतीय बल्लेबाज ने बताया पूरा किस्सा

Also Read - ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान बनते ही पैट कमिंस ने कहा- मैं चाहता था कि स्टीव स्मिथ उपकप्तान बनें

कुसाल परेरा ने छाती में दर्द के बावजूद क्रीज पर कदम रखा और नाबाद 28 रन बनाये जबकि दिलरूवान ने नाबाद 23 रन की पारी खेली जिससे श्रीलंका केनसिंगटन ओवल के ऐतिहासिक मैदान पर जीत दर्ज करने वाली पहली एशियाई टीम भी बन गयी. कुसाल परेरा एक दिन पहले विज्ञापन बोर्ड से टकराने के कारण घायल हो गये थे और लग रहा था कि वह मैच में आगे हिस्सा नहीं ले पाएंगे लेकिन टीम जब संकट में थी तब उन्होंने महत्वपूर्ण योगदान दिया. दिलरूवान ने वेस्टइंडीज के कप्तान जैसन होल्डर पर विजयी चौका लगाया. Also Read - एशेज सीरीज के दौरान ध्यान भटकाने का काम करेगी टिम पेन की मौजूदगी: रिकी पॉन्टिंग

INDvIRE: चहल के चंगुल में फंसेंगे आयरलैंड के खिलाड़ी, मैदान पर दिखेगी नई तरह की ‘गुगली बॉल’

होल्डर ने ही दिन के पहले ओवर में कुसाल मेंडिस को पगबाधा आउट किया था. कैरेबियाई कप्तान ने इस तरह से 41 रन देकर पांच विकेट लिये. उन्होंने पहली पारी में 19 रन देकर चार विकेट लिये थे जबकि 74 रन की पारी भी खेली थी. श्रीलंका की जीत के बावजूद होल्डर को इस शानदार प्रदर्शन के लिये मैन आफ द मैच चुना गया. बता दें कि श्रीलंका और वेस्टइंडीज के बीच 3 टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच त्रिनिदाद में खेला गया था, जो कि वेस्टइंडीज ने 226 रन से जीत लिया था. इसके बाद दूसरे मुकाबली ड्रॉ रहा था. तीसरे मैच में श्रीलंका ने 4 विकेट से जीत हासिल कर सीरीज को 1-1 से बराबर कर लिया.