विराट कोहली (Virat Kohli) ने टी20 विश्व कप के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के इस सबसे छोटे फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया है, जिसके अगले दिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने बड़ा कदम उठाया है. बीसीसीआई ने 17 सितंबर को राष्ट्रीय जूनियर चयन समिति (National Junior Selection Committee) की नियुक्ति कर दी है, जिसका चेयरमैन तमिलनाडु के पूर्व बल्लेबाज श्रीधरन शरत (Sridharan Sharath) को बनाया गया है.Also Read - पाकिस्तान के खिलाफ हार के बाद बोले कोहली- ये टूर्नामेंट की शुरुआत है अंत नहीं, खतरे की घंटी बजाने की जरूरत नहीं

श्रीधरन शरथ दक्षिण क्षेत्र के प्रतिनिधि चयनकर्ता हैं जबकि गुजरात के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज पथिक पटेल पश्चिम क्षेत्र के चयनकर्ता हैं और बंगाल के पूर्व मध्यम तेज गेंदबाज राणादेव बोस पूर्वी क्षेत्र के हैं. पंजाब के पूर्व बल्लेबाज कृष्ण मोहन उत्तर क्षेत्र के चयनकर्ता हैं जबकि मध्य प्रदेश के पूर्व तेज गेंदबाज हरविंदर सिंह सोढ़ी मध्य क्षेत्र के चयनकर्ता हैं. Also Read - IND vs PAK T20 World Cup 2021: पाकिस्‍तान की बड़ी जीत पर इमरान खान ने बधाई, इस अंदाज में मनाया जश्‍न

बीसीसीआई द्वारा नियुक्त राष्ट्रीय जूनियर चयन समिति इस प्रकार है : Also Read - Highlights IND vs PAK, T20 World Cup 2021: पाकिस्‍तान ने भारत को दी पहली बार टी20 विश्‍व कप में मात, 10 विकेट से हारा भारत

शरत श्रीधरन (दक्षिण क्षेत्र): चेयरमैन

पथिक पटेल (पश्चिम क्षेत्र)

राणादेब बोस (पूर्वी क्षेत्र)

कृष्ण मोहन (उत्तर क्षेत्र)

हरविंदर सिंह सोढ़ी (मध्य क्षेत्र)

बता दें कि 16 सितंबर को विराट कोहली ने टी20 विश्व कप के बाद टी20 प्रारूप की कप्तानी छोड़ने की घोषणा की थी. कोहली ने ट्वीट के जरिए बयान जारी कर कहा, “मैं खुद को भाग्यशाली समझता हूं कि मुझे सिर्फ भारत का प्रतिनिधित्व ही नहीं बल्कि भारतीय क्रिकेट टीम को लीड करने का मौका भी मिला, जिन्होंने कप्तान के रूप में मेरे सफर में मेरा साथ दिया, खिलाड़ी, सहायक स्टाफ, चयन समिति, मेरे कोच और हर भारतीय का मैं धन्यवाद करता हूं जो हमारी जीत के लिए प्रार्थना करते हैं.”

उन्होंने कहा, “मैं समझता हूं कि वर्कलोड काफी जरूरी होता है और ये मेरे साथ पिछले आठ-नौ महीने से था. तीनों प्रारूप में खेलना और लगातार पांच-छह वर्षो से कप्तानी करना, मुझे लगता है कि मुझे खुद को टेस्ट और वनडे में टीम की कमान संभालने के लिए खुद को स्पेस देना होगा. टी20 के कप्तान के तौर पर मैंने टीम को सबकुछ दिया. मैं आगे भी एक बल्लेबाज के तौर पर ऐसा करता रहूंगा.”