नई दिल्ली: वेस्टइंडीज के खिलाफ जारी टेस्ट सीरीज में बॉल टेम्परिग मामले में फंसे श्रीलंका टीम के कप्तान दिनेश चंडीमल पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा लगाए गए आरोप के बाद अब श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (एसएलसी) अपने खिलाड़ियों के बचाव में उतर आया है. एक क्रिकेट वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, एसएलसी ने एक मीडिया रिलीज के जरिए यह कहा है कि वह अपनी टीम के किसी भी खिलाड़ी के खिलाफ लगे असंगत आरोपों से उसका बचाव करेगा.

श्रीलंका बोर्ड ने अपनी प्रेस रिलीज में कहा, “टीम प्रबंधन ने हमें यह बताया है कि श्रीलंका टीम के खिलाड़ियों ने कुछ भी गलत नहीं किया है. ऐसे में अगर किसी भी प्रकार का गलत आरोप लगाया जाता है, तो बोर्ड अपनी टीम के किसी भी खिलाड़ी के बचाव में जरूरी कदम उठाएगा.”

टीम इंडिया ने फिर दिखाई ‘खेल भावना’, VIDEO देखकर आपको भी होगा गर्व

उल्लेखनीय है कि आईसीसी ने रविवार को ट्वीट के जरिए श्रीलंका टीम के कप्तान चंडीमल पर आसीसी की आचार संहिता के स्तर 2.2.9 के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए उन्हें गेंद से छेड़छाड़ का दोषी माना है. ऐसे में आईसीसी के मैच रैफरी जवागल श्रीनाथ ने दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन वेस्टइंडीज को पांच रन दिए थे. इससे गुस्साई श्रीलंका टीम ने विरोध प्रदर्शन करते मैदान पर उतरने से साफ इनकार कर दिया. ऐसे में मैच ढाई घंटे की देरी से शुरू हुआ.

अनुष्का ने बीच सड़क पर कचरा फेंक रहे व्यक्ति को लगाई डांट, कोहली ने शेयर किया VIDEO

आईसीसी ने चंडीमल पर आईसीसी की आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया है और उसका कहना है कि आईसीसी ने इस आरोप के प्रभाव को अभी पूरी तरह से नहीं बताया है. गौरतलब है कि पिछले दो साल में दूसरी बार हो रहा है, जब श्रीलंका को गेंद के साथ छेड़छाड़ के मामले में विवादों का सामना करना पड़ा है. इससे पहले टीम को पिछले साल दासुन शनाका के कारण इस प्रकार के मामले से जूझना पड़ा था.