नई दिल्ली : चेन्नई सुपर किंग्स के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने आईपीएल के इस सत्र में बल्लेबाजी में खराब प्रदर्शन के बाद ‘उम्रदराज हो चली टीम’ में बदलाव की जरूरत स्वीकार की. चेन्नई की कोर टीम की औसत उम्र 34 साल है जिसने पिछले साल खिताब जीता था और इस बार फाइनल में मुंबई इंडियंस से हार गई. Also Read - एक समय थे PUBG के बादशाह अब धोनी का हाथ हो गया है तंग, साथी खिलाड़ी ने बताई पूरी कहानी

फ्लेमिंग और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने बल्लेबाजी में बेहतर प्रदर्शन की जरूरत पर जोर दिया. कोच ने कहा, ‘‘यदि आप एक साल खिताब जीते और अगले साल फाइनल में पहुंचे हैं तो प्रदर्शन अच्छा कहा जायेगा. हम समझते हैं कि यह उम्रदराज टीम है. हमें नये सिरे से टीम तैयार करने पर सोचना होगा.’’ Also Read - IPL 2020 स्थगित होने से खुश हैं दीपक चाहर; कहा- 29 मार्च को शुरू होता टूर्नामेंट तो नहीं खेल पाता

उन्होंने कहा कि अगले सत्र के लिये रणनीति विश्व कप के बाद तैयार की जायेगी. उन्होंने कहा, ‘‘धोनी विश्व कप खेलने जायेंगे. दूसरी टीमों के पास कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं. हमें संभलकर नये सिरे से टीम तैयार करके सही संतुलन खोजना होगा.’’ Also Read - युवराज सिंह ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया : आशीष नेहरा

मुंबई की जीत के बाद इमोशनल हुईं नीता अम्बानी, बेटे को ‘मदर्स डे’ पर गिफ्ट के लिए कहा शुक्रिया

फ्लेमिंग ने कहा, ‘‘चेन्नई के लिये यह साल कठिन था. हमारे बल्लेबाज अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे. उनसे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी. लेकिन यह भी है कि फाइनल तक पहुंचे और मैच आखिरी गेंद तक खिंचा. बल्लेबाजी में हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाये लेकिन प्रयासों में कोई कमी नहीं थी.’’