नई दिल्ली: आईपीएल 2018 में शुक्रवार को राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच मैच खेला जायेगा. इस मुकाबले से पहले चेन्नई के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कि उनकी टीम जयपुर में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ होने वाले मैच में आत्ममुग्ध नहीं होगी. चेन्नई को प्ले ऑफ में जगह बनाने के लिये बचे हुए चार मैचों में से केवल एक जीत की जरूरत है. फ्लेमिंग ने मैच से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘टीमें जैसे राजस्थान रॉयल्स की तरह ऐसी स्थिति में होना जहां प्रत्येक मैच जीतना हो, खतरनाक हो सकता है. हम पूरे जज्बे से खेलेंगे. हम जानते हैं कि हम दो मैच आगे हैं लेकिन हम ऐसी स्थिति में नहीं पहुंचना चाहते, जहां हमें अंतिम मैचों से अगले दौर में पहुंचने की जरूरत हो. हम आत्ममुग्ध नहीं होंगे.’’

चेन्नई की टीम इस समय 10 मैचों में 14 अंक लेकर दूसरे स्थान पर है. फ्लेमिंग ने कहा कि उनकी टीम के लिए चिंता के ज्यादा क्षेत्र नहीं हैं लेकिन यह प्रत्येक मैच के साथ बेहतर होना है और सही संतुलन हासिल करना है. वहीं राजस्थान रॉयल्स के लेग स्पिनर ईश सोढ़ी ने कहा कि उनकी टीम के लिये यह ‘करो या मरो’ की स्थिति है. सोढी ने कहा, ‘‘हम हर मैच में ‘करो या मरो’ की स्थिति में हैं लेकिन अभी हमें चार मैच खेलने हैं और हम एक मैच पर ही ध्यान लगायेंगे.’’

पाकिस्तान के लिए साथी खिलाड़ी ने धोनी के साथ किया धोखा, CSK का साथ छोड़ा

गौरतलब है कि चेन्नई ने अपना पिछला मुकाबला रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर के खिलाफ खेला था, जिसमें 6 विकेट से जीत हासिल की थी. इस लो स्कोरिंग मैच में बैंग्लोर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 9 विकेट खोकर 127 रन बनाए. इसके जवाब में उतरी चेन्नई की टीम ने 18 ओवर में 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. चेन्नई की ओर से अंबाती रायडू ने 32 रन और कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने नाबाद 31 रन की पारी खेली थी.

हर गेंद पर मचाया गर्दा… रिषभ पंत की ‘स्पेशल पारी’ से उठा पर्दा!

बता दें कि इस सीजन में चेन्नई ने अब तक कुल 10 मुकाबले खेले हैं, जिनमें से 7 मैचों में जीत हासिल की है. टीम पॉइंट टेबल में 14 पॉइंट्स के साथ दूसरे नंबर पर काबिज है. इस सीजन में उसकी शुरुआत काफी अच्छी रही थी. चेन्नई ने अपने पहले मुकाबले में मुंबई इंडियन्स को 1 विकेट से हराया था. वहीं दूसरे मैच में कोलकाता नाइटराइडर्स को 5 विकेट से पटखनी दी थी. इसी तरह बैंग्लोर, राजस्थान और हैदराबाद को भी हराया था. हालांकि उसे रविचन्द्रन अश्विन की कप्तानी वाली टीम किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद एक दूसरे मुकाबले में उसे मुंबई ने 8 विकेट से हराया था.