टीम इंडिया धर्मशाला टेस्ट में जीत के साथ ही सीरीज जीतने के करीब पहुंच गई है। हार का दबाव ऑस्ट्रेलियाई टीम पर दिखने लगा है। मैच के तीसरे दिन भारतीय गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर ऑस्ट्रेलियाई टीम अपनी दूसरी पारी में 137 रन पर सिमट गई। दूसरी पारी में महज 17 रन बनाकर आउट हुए कप्तान स्टीव स्मिथ अपनी टीम की दुर्दशा से इस कदर बैचेन हो गए कि भारतीय ओपनर मुरली विजय को अपशब्द कहते देखे गए।

दरअसल ऑस्ट्रेलियाई पारी के 54वें ओवर में 137 के स्कोर पर ऑस्ट्रेलिया के 9 विकेट गिर चुके थे। तब अश्विन की गेंद पर गली में मुरली विजय ने हेजलवुड का एक नीचा कैच पकड़ा। भारतीय फील्डर्स की अपील पर अंपायर ने हेजलवुड को आउट दे दिया। भारतीय खिलाड़ी जश्न मनाने लगे और विजय ने पविलियन की तरफ दौड़ लगा दी क्योंकि उन्हें ओपनिंग के लिए उतरना था।

लेकिन इस बीच टीवी रिप्ले से पता चला कि मुरली विजय इस कैच को ठीक से नहीं ले पाए गेंद उनके हाथ में पहुंचने से पहले जमीन से छू गई थी। इसके बाद थर्ड अंपायर ने हेजलवुड को नॉट आउट दे दिया। इस घटना से नाराज स्टीव स्मिथ को ड्रेसिंग रूम में अपशब्द कहते हुए ‘धोखेबाज’ कहते देखा गया।

ऐसा माना जा रहा है कि स्मिथ ने ये अपशब्द मुरली विजय के लिए इस्तेमाल किए थे क्योंकि उन्होंने कैच को साफ ढंग से न पकड़ पाने के बावजूद हेजलवुड के खिलाफ आउट की अपील की थी। यह भी पढ़ें: स्टीव स्मिथ ने पकड़ा इतना लाजवाब कैच, वीडियो देख तारीफ करेंगे आप!

ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर वेड ने जडेजा के खिलाफ किया अपशब्द का इस्तेमाल

इससे पहले तीसरे दिन भारतीय पारी के दौरान ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने भी रवींद्र जडेजा को अपशब्द कहे। वेड तो स्टंप माइक पर जडेजा के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल करते हुए सुनाई दिए। जडेजा ने वेड की बातों का जवाब अपने बल्ले से दिया और 4 छक्कों की मदद से 63 रन की तेज पारी खेलते हुए भारत को ऑस्ट्रेलिया पर 32 रन की बढ़त दिलाने में अहम भूमिका निभाई। यह भी पढ़ें: ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा का कमाल, धर्मशाला में हासिल की ये बड़ी उपलब्धि