ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीवन स्मिथ इन दिनों शानदार फॉर्म से गुजर रहे हैं. उनकी पिछली कुछ पारियां देखकर पूरी दुनिया उनकी मुरीद बन चुकी है. स्मिथ के बचपन के कोच रहे ट्रेंट वुडहिल ने हाल ही में स्मिथ की तारीफ करते हुए उन्हें महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन के बाद सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बताया है. इन तारीफों के बीच वुडहिल ने स्मिथ के खेलने की तकनीक पर भी बात की. उन्होंने कहा स्मिथ अगर भारत के लिए खेल रहे होते तो उनकी तकनीक पर वहां इतनी चर्चा नहीं होती जितना कि यहां आस्ट्रेलिया में हो रही है. ईएसपीएनक्रिकइंफो ने वुडहिल के हवाले से कहा, “स्टीवन अगर भारतीय होते तो उनकी तकनीक और बल्लेबाजी से जुड़ी रणनीति को स्वीकार कर लिया जाता.”

वुडहिल ने भारतीय क्रिकेट की इतिहास को याद करते हुए कहा कि भारत में गावस्कर, गांगुली, सहवाग जैसे खिलाड़ी थे जिनके पास अपनी अलग तरह की तकनीक थी मगर उन पर कभी सवाल नहीं उठे. उन्होंने नए जमाने के विराट कोहली और रोहित शर्मा का भी उदहारण देते हुए कहा कि भारत में परिणाम देखे जाते हैं. आप कितने रन बना रहे हैं, वो अहम है. जब तक आप नतीजे दे रहे हैं, यह मायने नहीं रखता कि कैसे दे रहे हैं जबकि आस्ट्रेलिया में टीम मैनेजमेंट चाहते हैं कि आप अच्छे स्कोर बनाएं और साथ ही इस दौरान तकनीक का भी ध्यान रखें.”

ऑस्ट्रेलिया के धुरंधर बल्लेबाज स्टीवन स्मिथ ने एशेज श्रृंखला में अपना जलवा बिखेरते हुए 110 के औसत से 774 रन बनाए थे. आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेली गई यह एशेज सीरीज 2-2 से ड्रॉ रही.