मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने गेंद से छेड़खानी प्रकरण के कारण खोया विश्वास फिर हासिल करने का वादा करते हुए कहा कि विवाद के बाद लोगों से मिले सहयोग से वह अभिभूत हैं. स्मिथ ने इंस्टाग्राम पर लिखा, ऑस्ट्रेलिया लौटकर अच्छा लग रहा है. मुझे हालात से सामंजस्य बिठाने में समय लगा लेकिन अब इस पर लौटने का समय है.

लोगों से मिले समर्थन से अभिभूत

उन्होंने कहा, मुझे इतने ईमेल और पत्र मिले कि यह अविश्वसनीय है. लोगों से मिले समर्थन और सहयोग से मैं अभिभूत हूं. मुझे आपका खोया विश्वास फिर पाने के लिये काफी मेहनत करनी होगी. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट में गेंद से छेड़खानी विवाद के बाद स्मिथ और उपकप्तान डेविड वॉर्नर पर एक साल का और कैमरन बेनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का प्रतिबंध लगाया गया था. उस घटना के बाद से यह भावी योजना को लेकर स्मिथ का पहला बयान है.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बाद BCCI ने भी लगाया स्मिथ और वॉर्नर पर बैन, IPL-11 में नहीं खेलेंगे

उन्होंने कहा, इस दौरान मम्मी, डैडी और डानी (पत्नी) मेरे साथ डटे रहे और इसके लिये मैं उनका शुक्रगुजार हूं. दुनिया में सबसे अहम परिवार है और मैं उनके प्यार और सहयोग के लिये धन्यवाद देता हूं.

आईपीएल से भी होना पड़ा बाहर

बॉल टेंपरिंग विवाद में स्मिथ पर पर एक साल का बैन लगने के बाद उनका ये पहला सार्वजनिक बयान है. इससे पहले उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस कर अपनी बात रखी थी जिसमें वह फूट फूटकर रो भी पड़े थे. स्मिथ ने कहा था कि उन्हें अपनी गलती के लिए पछतावा है और इसके लिए वह खुद ही जिम्मेदार है. इस विवाद के चलते स्मिथ पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने न सिर्फ एक साल का बैन लगाया, बल्कि उन्हें आईपीएल से भी बाहर होना पड़ा. स्मिथ राजस्थान रॉयल्स के कप्तान चुने गए थे.

स्मिथ के अलावा डेविड वॉर्नर को भी इसकी कीमत चुकानी पड़ी थी और उनपर भी एक साल का बैन लगा. स्मिथ की तरह उनपर आईपीएल में भी एक साल का बैन लगा और हैदराबाद सनराइजर्स की कप्तानी भी गंवानी पड़ी. पिछले सीजन आईपीएल 10 में वॉर्नर आईपीएल में सर्वोच्च स्कोरर रहे थे. जबकि आईपीएल 9 में हैदराबाद ने जीत हासिल की थी.

(भाषा इनपुट)