भारतीय फुटबॉल टीम (India Football Team) के कप्तान सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) का कहना है कि बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाफ ड्रॉ रहे फीफा विश्व कप क्वालीफायर ( FIFA World Cup Qatar 2022 and AFC Asian Cup China 2023 Joint Qualifiers) मैच में टीम का प्रदर्शन साल्ट लेक स्टेडियम (Salt Lake) के जबर्दस्त माहौल के सामने कुछ नहीं था.

सचिन तेंदुलकर ने ICC के Super Over नियम में बदलाव का किया स्वागत

मंगलवार रात खेले गए मैच में आखिरी मिनटों पर आदिल खान के गोल ने भारत को अपने से निचली रैंकिंग वाली टीम से हारने से बचाया. भारत की जीत की आस लेकर आए दर्शकों (Fans) को हालांकि इस प्रदर्शन से काफी निराशा हुई.

AFG के खिलाफ सीरीज के लिए वेस्‍टइंडीज की टीम का ऐलान, पोलार्ड करेंगे कप्‍तानी

छेत्री ने ट्वीट किया, ‘हम उस तरह का प्रदर्शन नहीं कर सके जैसा साल्ट लेक स्टेडियम पर माहौल था. ड्रेसिंग रूम (dressing Room) में इसे लेकर काफी निराशा है.’

उन्होंने कहा कि टीम मौकों का फायदा नहीं उठा सकी और डिफेंस का प्रदर्शन भी लचर था. बकौल छेत्री,‘हमें कई मौके मिले लेकिन हम उन्हें भुना नहीं सके. हम प्रयास करते रहेंगे.’


भारत के तीन मैचों में दो अंक है जबकि बांग्लादेश के इतने ही मैचों में एक अंक है. भारत अब 14 नवंबर को अफगानिस्तान और 19 नवंबर को ओमान से उनकी सरजमीं पर भिड़ेगा.

पिछले 20 वर्षों से बांग्लादेश के खिलाफ जीत के लिए तरस रहा भारत

इस तरह से भारतीय टीम का पिछले 20 वर्षों में बांग्लादेश पर जीत दर्ज करने का इंतजार बना रहा. उसने अपने इस पड़ोसी देश को आखिरी बार 1999 में सैफ खेलों में हराया था. इन दोनों टीमों के बीच पिछले तीन मैच बराबरी पर छूटे जबकि 2009 सैफ खेलों में बांग्लादेश जीत दर्ज करने में सफल रहा था.