नई दिल्ली : टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज कप्तान सुनील गावस्कर ने महेन्द्र सिंह धोनी और शिखर धवन के घरेलू टूर्नामेंट में न खेलने पर सवाल उठाया है. गावस्कर का कहना है कि बीसीसीआई ने विश्वकप 2019 से पहले धोनी और धवन को टूर्नामेंट से बाहर रहने की इजाजत कैसे दे दी. टेस्ट टीम से बाहर धवन मेलबर्न में परिवार के साथ समय बिता रहे हैं. धोनी ने एक नवंबर को वेस्टइंडीज के खिलाफ खत्म हुई सीरीज के बाद से क्रिकेट नहीं खेला है. धोनी को टी-20 टीम में नहीं चुना गया जबकि वह 2014 में ही टेस्ट से संन्यास ले चुके हैं. वह सिर्फ वनडे टीम का हिस्सा हैं.

गावस्कर ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा, ‘‘हमें धवन और धोनी से नहीं पूछना चाहिये कि वे घरेलू क्रिकेट क्यों नहीं खेल रहे. हमें बीसीसीआई और चयनकर्ताओं से पूछना चाहिये कि उन्होंने खिलाड़ियों को घरेलू क्रिकेट नहीं खेलने की अनुमति कैसे दी जब वे देश के लिये नहीं खेल रहे हैं. यदि भारतीय टीम को अच्छा खेलना है तो खिलाड़ियों को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा.’’

कोहली को माइंडगेम से परेशान करेंगे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, रिकी पोटिंग ने दी सलाह

गावस्कर ने कहा, ‘‘धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज नहीं खेली. उसके पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज में भी वह टीम में नहीं हैं. उन्होंने आखिरी मैच एक नवंबर को खेला और अगला जनवरी में खेलेंगे. विश्व कप टीम में उनकी जगह को लेकर और सवाल उठेंगे. उम्र के साथ खेल में बदलाव आता है. यदि आप घरेलू स्तर पर ही क्रिकेट खेलते रहे तो कैरियर का विस्तार करने में मदद मिलती है और अभ्यास भी हो जाता है.’’