भारतीय टीम के दिग्‍गज बल्‍लेबाज सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) का मानना है कि वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला हारने की मुख्‍य वजह टीम इंडिया का जरूरत से ज्‍यादा व्‍हाइट बॉल क्रिकेट खेलना है. गावस्‍कर ने माना कि भारतीय टीम को आखिरी दिन रिजर्व डे पर अधिक सयंम दिखाने की जरूरत थी. अगर वो ऐसा करते तो जरूरत कामयाब होते.Also Read - T20 World Cup के चार दिन बाद ही भारत करेगा न्यूजीलैंड का दौरा, ये है पूरा शेड्यूल

केन विलयमसन की कप्‍तान वाली न्‍यूजीलैंड की टीम ने भारत को वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल में आठ विकेट से मात दी. मैच खत्‍म होने के समय से ठीक आधा घंटा पहले न्‍यूजीलैंड ने जीत दर्ज की. मैच में पहले और चौथे दिन का खेल पूरी तरह से बारिश से धुल गया था. दूसरे और तीसरे दिन भी बारिश के चलते खेल प्रभावित हुआ. Also Read - टी20 विश्व कप 2022 के बाद 6 मैचों के लिए न्यूजीलैंड दौरा करेगी टीम इंडिया, देंखे 2022-23 का पूरा शेड्यूल

सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने कहा, “मैच के अंतिम दिन वातावरण सुहाना था और सूरज भी निकला रहा था. लेकिन भारतीय जो सीमित ओवर के मैच में ढल गए, उन्होंने टेस्ट में जरूरत के अनुसार संयम नहीं दिखाया.” Also Read - बेन स्टोक्स ने कहा- न्यूजीलैंड को क्लीन स्वीप करने के बाद भारत के खिलाफ भी इसी मानसिकता से खेलेगा इंग्लैंड

भारत की दूसरी पारी उस मैच में 170 रन पर ढेर हो गई थी और न्यूजीलैंड को जीत के लिए 139 रनों का लक्ष्य मिला था. सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने कहा, “ऐसे वातावरण में किस तरह का संयम और शॉट चयन की जरूरत होती है वो न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन की दोनों पारियों में दिखा.”

सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) ने कहा, ” विलियमसन ने दिखाया कि बल्लेबाज को ऐसे वातावरण में किस तरह शॉट खेलने हैं. उन्होंने इस तरह बल्लेबाजी की जैसा उन्हें पता है कि यहां कैसे खेलना है और सभी बल्लेबाजों को ऐसे ही खेलना चाहिए.”