न्‍यूजीलैंड दौरे पर (India vs New Zealand) भारत को मेजबान टीम के हाथों 0-2 से करारी शिकस्‍त झेलनी पड़ी. इसके साथ ही आईसीसी  टेस्‍ट चैंपियनशिप (ICC Test Championship) में भारत के अजेय रहने का सिलसिला भी टूट गया. भारत दोनों मुकाबलों में से किसी भी मैच में न्‍यूजीलैंड को टक्‍कर देता नजर नहीं आया. सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) का मानना है कि भारत को विदेशी सरजमीं पर अजेय रहने के लिए काफी मेहनत करने की जरूरत है. Also Read - गावस्‍कर के समय में टी20 क्रिकेट होता तो वो सबसे ज्‍यादा डिमांड में रहते: कपिल देव

दैनिक जागरण से बातचीत के दौरान गावस्‍कर ने कहा, “जब भी पिच से कुछ अधिक मदद मिलती है तो भारतीय बल्‍लेबाज उसपर जूझते हुए नजर आते हैं. यह आज की बात नहीं है. 1877 में जब अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट शुरू हुआ था तभी से हर टीम के लिए यह सिलसिला जारी है. गेंदबाजों को जब पिच से अतिरिक्‍त मदद मिलती है तो बल्‍लेबाज मुश्किल में नजर आते हैं.” Also Read - कोरोनावायरस के चलते Test Championship के फाइनल की तारीख में हो सकता है बदलाव

पढ़ें:- जब युवराज सिंह ने खेली करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी, कहा- ‘भले ही मैं मर जाऊं, भारत विश्व कप जीतेगा’ Also Read - 'IPL को मुश्‍ताक अली ट्रॉफी नहीं बनने देंगे' वाले BCCI अधिकारी के बयान पर भड़के सुनील गावस्‍कर, 'अगर तुम...'

“न्‍यूजीलैंड में टेस्‍ट सीरीज में करारी हार ने यह फिर साबित कर दिया कि विदेशों में सीरीज जीतने में भारत को कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. भारत अपने घर पर अजेय है. विदेशी जमीन पर जीत की आदत डालने के लिए हमें काफी मेहनत करनी होगी.”

पढ़ें:- अगले 3-4 सालों में महिलाओं के लिए आईपीएल शुरू करना सही होगा: WV रमन

टेस्‍ट क्रिकेट में भारत के सामने अगली बड़ी चुनौती अब ऑस्‍ट्रेलिया की है. साल 2018-19 में विराट कोहली की कप्‍तानी वाली भारतीय टीम कंगारुओं को उन्‍हीं के घर पर पहली बार टेस्‍ट सीरीज में मात देने में सफल रही थी. इस साल के अंत में होने वाले ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर भारत के लिए जीत को दोहरा पाना इतना आसान नहीं होगा. इस बार पूर्व कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ और पूर्व उपकप्‍तान डेविड वार्नर भारत की जीत के बीच बड़ी दीवार बन सकते हैं.