भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर इस बात से काफी नाराज थे कि शनिवार को पुणे में एक प्रशंसक ने सुरक्षा घेरे को तोड़कर महाराष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रहे दूसरे टेस्ट के दौरान मैदान में प्रवेश कर लिया. Also Read - IPL 2021 Auction MI LIVE: लसिथ मलिंगा बाहर, ये है मुंबई इंडियंस के रिटेन्‍ड और रिलीज किए गए क्रिकेटर्स की पूरी लिस्‍ट

Also Read - चेतेश्‍वर पुजारा ने जड़ा करियर का सबसे धीमा अर्धशतक, निकले गावस्‍कर-सचिन-विराट से आगे

World Women’s Boxing Championships 2019: लवलीना बोरगोहेन को ब्रॉन्ज से करना पड़ा संतोष Also Read - Shubman Gill ने तोड़ा सुनील गावस्‍कर का रिकॉर्ड, बने ऐसा करने वाले सबसे युवा भारतीय

एक प्रशंसक स्टेडियम की सुरक्षा को तोड़ते हुए रोहित शर्मा के करीब पहुंच गया जो मैच के तीसरे दिन स्लिप में क्षेत्ररक्षण कर रहे थे.

उसने रोहित के पैर छुए जिसके बाद सुरक्षा स्टाफ ने उसे मैदान से बाहर किया. इस घटना से क्रिकेटर से कमेंटेटर बने गावस्कर काफी खफा हैं जिन्होंने मैदान के सुरक्षा स्टाफ की जवाबदेही पर सवाल उठाए.

गावस्कर कमेंटरी पैनल का हिस्सा हैं, उन्होंने कहा, ‘इस तरह की घटनायें इसलिए होती हैं क्योंकि सुरक्षाकर्मी दर्शकों को नहीं देख रहे होते बल्कि मैच देख रहे होते हैं. भारत में हमेशा यह समस्या रही है.’

उन्होंने कहा, ‘सुरक्षाकर्मी यहां मुफ्त में मैच देखने के लिए नहीं हैं. वे इस तरह की घटनाएं रोकने के लिए हैं.’

World Women’s Boxing Championships 2019: मंजू ने फाइनल का टिकट कटाया

गावस्कर ने कहा कि इस तरह की घटनाएं सुरक्षा के लिहाज से काफी जोखिम भरी हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं कहता हूं कि सुरक्षा घेरे की ओर कैमरा रखिए और देखिए कि वे मैच देख रहे हैं या फिर दर्शकों को.’

उन्होंने कहा, ‘‘यह बहुत ही सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक मुद्दा है जिसके लिए ही आपको तैनात किया गया है कि आप सुनिश्चित करें कि कोई भी मैदान में नहीं जा सके. इससे कोई भी खिलाड़ी को नुकसान पहुंचा सकता है. ऐसा पहले भी हो चुका है तो जोखिम क्यों लिया जाए.’