चेन्नई: भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे सुरेश रैना का मानना है कि वह अभी भी वनडे और टी-20 टीम में नंबर-4 पर बल्लेबाजी कर सकते हैं. रैना ने आखिरी बार पिछले साल इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में भारत के लिए मैच खेला था और टी-20 विश्व कप से पहले टीम में वापसी का प्रयास कर रहे हैं. वर्ष 2020 और 2021 में लगातार दो विश्व कप खेले जाने हैं. एक इंटरव्यू में रैना ने बताया, “मैं भारत के लिए नंबर-4 पर बल्लेबाजी कर सकता हूं. मैंने पहले भी उस स्थान पर बल्लेबाजी की है और अच्छा प्रदर्शन किया है. दो विश्व कप खेले जाने हैं और मैं मौके की तलाश में हूं.”

भारतीय टीम में नंबर-4 का स्थान लंबे समय से चर्चा का विषय बना हुआ है. कुछ समय तक अंबाती रायडू को नंबर-4 पर खिलाने के बाद चयनकर्ताओं ने विश्व कप के लिए विजय शंकर को टीम में चुना. शंकर के चोटिल होने के बाद युवा ऋषभ पंत को इस स्थान पर मौका दिया जा रहा है, लेकिन वह निरंतर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं. रैना ने कहा, “वह भ्रमित दिखाई देते हैं और अपना स्वाभाविक खेल नहीं खेल पा रहे हैं. वह सिंगल की तलाश करते हैं, गेंद रोकते हैं और फिर लगता है कि वह चीजों को समझ नहीं पा रहे हैं.”

सुरेश रैना

उन्होंने कहा, “किसी को उनसे बात करने की जरूरत है जैसा कि महेंद्र सिंह धोनी खिलाड़ियों से करते हैं. क्रिकेट एक मानसिक खेल है और पंत को समर्थन की जरूरत है ताकि वह अपना आक्रामक खेल खेल सके. ऐसा लग रहा है कि अभी वह निर्देश के तहत खेल रहे हैं और यह काम नहीं कर रहा है.”

रैना ने यह भी कहा कि धोनी अभी भी टीम को बहुत कुछ दे सकते हैं. उन्होंने कहा, “वह अभी भी फिट है, एक बेहतरीन विकेटकीपर हैं और अभी भी खेल के सबसे बड़े फिनिशर हैं. टी-20 विश्व कप में भारत के लिए धोनी महत्वपूर्ण साबित होंगे.”