भारतीय क्रिकेट टीम से दरकिनार किए गए बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में बढ़चढ़कर हिस्सा लिया है. रैना ने 52 लाख रुपये अनुदान देने की घोषणा की है. इस समय कोरोनावायरस संक्रमण से भारत में अब तक 19 लोगों की जान जा चुकी है जबकि लगभग 800 से अधिक लोग संक्रमित है. विश्व में इस संक्रमण से अब तक लगभग 27 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है वहीं 6 लाख से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं. Also Read - सऊदी अरब ने फिर से खोलीं 90 हजार मस्जिदें, मक्का अब भी बंद

अर्थ आवर डे: कोरोना वायरस के कारण घर में बंद लोगों से रोहित शर्मा ने की खास अपील Also Read - उत्तराखंड कैबिनेट को क्‍वारंटाइन में भेजने की जरूरत नहीं: स्वास्थ्य सचिव

अनुभवी बल्लेबाज रैना ने 31 लाख रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष और 21 लाख उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का फैसला किया है. रैना ने सोशल मीडिया इंस्टाग्राम पर अपने प्रशंसकों से अपील करते हुए कहा कि हर कोई अपना योगदान दे और घरों में ही रहें. Also Read - Coronavirus Lockdown: स्कूलों को फिर से खोलने की योजना पर अभिभावकों की बढ़ी चिंता, जानें क्या है सरकार की प्लानिंग


रैना से पहले दिग्गज सचिन तेंदुलकर ने 50 लाख रुपये की मदद देने की बात कही थी. सचिन ने 25 लाख रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष और 25 लाख मुख्यमंत्री राहत कोष में दिए हैं. वहीं भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली, शटलर पीवी. सिंधू पूर्व विस्फोटक ओपनर गौतम गंभीर अपने-अपने तरीके से इस लड़ाई में योगदान दे चुके हैं.

COVID-19: ‘टीम इंडिया के खिलाड़ियों को प्रैक्टिस के लिए जगह की कमी पहुंचा सकती है नुकसान’

कोरोनावायरस महामारी के कारण इस समय विश्व में सभी खेल प्रतियोगिताएं या तो स्थगित कर दी गई हैं या उन्हें रद्द कर दिया गया है. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को भी 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है.