इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की सबसे सफल टीमों में से एक चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की सफलता का सबसे बड़ा कारण है कोर ग्रुप और कप्तान को बरकरार रखना। चेन्नई आईपीएल की एकलौती ऐसी टीम है, जिसने पहले सीजन से लेकर 12वें सीजन तक अपना कप्तान नहीं बदला है। जिसका नतीजा ये रहा कि अब तक खेले दस सीजन में से चेन्नई ने हर बार प्लेऑफ में जगह बनाई है, जिसके पीछे कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) का दिमाग और उनकी शानदार नेतृत्व क्षमता का हाथ हैं Also Read - KKR vs KXIP: लगातार 5वीं जीत से नंबर-4 पर आया पंजाब, ये हैं मैच के हीरो

भारतीय टीम और सीएसके के मध्यक्रम बल्लेबाज सुरेश रैना (Suresh Raina) का भी यही कहना है। रैना ने कहा कि ये धोनी की कप्तानी है जिसने चेन्नई को आईपीएल इतिहास की सबसे मजबूत टीम बनाया है। उनका कहना कि बतौर कप्तान धोनी का हर कदम सही रहा। Also Read - IND vs AUS: भारतीय टीम का ऐलान होने के साथ रवि शास्‍त्री एंड कंपनी पहुंची यूएई, ये है आगे का प्‍लान

सीएसके की वेबसाइट को दिए बयान में रैना ने कहा, ‘‘उन्होंने जो भी कदम उठाया, सटीक था। उन्हें पता है कि अलग अलग हालात में अलग अलग गेंदबाजों का कैसे इस्तेमाल करना है। वो स्टंप के पीछे सब कुछ नियंत्रित कर लेते हैं। वो सब कुछ काफी बारीकी से देखते हैं।’’ Also Read - IND vs AUS: सूर्यकुमार यादव को फिर नहीं मिली टीम इंडिया में जगह, फैंस मांग रहे न्याय

चेन्नई के लिए 5,368 रन बनाकर टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में दूसरे नंबर पर मौजूद रैना ने कहा कि उनकी बल्लेबाजी में निखार आया है क्योंकि उन्हें मैथ्यू हेडन (Matthew Hayden), माइकल हसी (Michael Hussey) और स्टीफन फ्लेमिंग (Stephen Fleming) जैसे बल्लेबाजों के साथ खेलने का मौका मिला।