पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना (Suresh Raina) ने जम्मू कश्मीर के युवा खिलाड़ियों को ट्रेनिंग देने फैसला किया है। रैना ने शुक्रवार को जम्मू एवं कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा को फोन किया। रैना के इस कदम की तारीफ करते हुए सिन्हा ने कहा, खेल और शिक्षा के माध्यम से हम जम्मू एवं कश्मीर के युवाओं को नई दिशा दे सकते हैं। Also Read - पाकिस्तान ने आंतकियों को दी खुली छूट, हाफिज सईद से कहा- कश्मीर में भेजो दहशतगर्द

रैना कश्मीर डिविजन और जम्मू डिविजन में पांच-पांच अकादमियां खोलना चाहते हैं। वो यहां के युवा खिलाड़ियों खासकर दूर-दराज के इलाकों से आने वाले युवाओं को प्रशिक्षण देंगे। रैना ने कहा कि प्रतिभाशाली युवाओं को परखा जाएगा और उन्हें पेशेवर लोगों द्वारा ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि यह लोग अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेल सकें। Also Read - ट्विटर ने जम्मू-कश्मीर को बताया चीन का हिस्सा, भड़के लोगों ने रविशंकर प्रसाद से की कार्रवाई की मांग

साथ ही रैना ने जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह से मुलाकात कर केन्द्र शासित प्रदेश के युवाओं के खेल कौशल में सुधार करने की योजना पर चर्चा की। Also Read - भाजपा ने जम्मू-कश्मीर की सभी पार्टियों को एक मंच पर ला दिया, हम अनुच्छेद 370 को वापस लाएंगे: सज्जाद लोन

पुलिस प्रवक्ता ने कहा, ‘‘प्रसिद्ध (पूर्व) अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सुरेश रैना ने जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह से आज (शुक्रवार) को पुलिस मुख्यालय (पीएसक्यू) में मुलाकात की और पुलिस की उन योजनाओं की चर्चा कि जिसमें स्थानीय युवाओं के खेल कौशल को प्रोत्साहित किया जा रहा है।’’

उन्होंने कहा कि डीजीपी ने पूर्व क्रिकेटर को पीएचक्यू आने के लिए धन्यवाद दिया और केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर युवाओं के लिए सेवा देने की उनकी प्रतिबद्धता की सराहना की।

रैना ने कहा कि वह जम्मू-कश्मीर के युवाओं के बीच खेल को बढ़ावा देना चाहते हैं। पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने कहा कि वो प्रदेश के स्कूलों, कॉलेजों और ग्रामीण क्षेत्रों सहित विभिन्न हिस्सों से प्रतिभाशाली युवाओं या बच्चों का मार्गदर्शन करना चाहते हैं। वो इससे पहले क्रिकेट को बढ़ावा देने और खास कर गरीब बच्चों की प्रतिभा की पहचान के लिए डीजीपी को पत्र भी लिख चुके हैं।