भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) को ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक जीत ने गर्व करने का मौका दिया. क्रिकेट और दिलों को जीतकर इतराने का मौका दिया. ठीक उसी तरह ये क्रिकेट खिलाड़ी जब दुनिया में और ऑस्ट्रेलिया में धाक जमाकर अपने देश वापस लौटे तो यहाँ भावुक भी हो गये हैं. इतना जोरदार स्वागत देख खिलाड़ी भावविभोर हो गये. किसी पर फूल बरसे, किसी को रथ में बैठाकर घुमाया गया तो किसी के लिए रेड कारपेट बिछा दिया गया. भारतीय खिलाड़ियों का परिजनों, प्रशंसकों ने जोरदार स्वागत किया है. Also Read - India vs England: आलोचना झेल रहे अजिंक्य रहाणे-चेतेश्वर पुजारा के समर्थन में उतरे कप्तान कोहली

अपने कप्तानी में भारत को आस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत दिलाने वाले अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) जब गुरुवार को माटुंगा स्थित अपने घर पहुंचे तो उनका रेड कारपेट वेलकम किया गया. अपनी सोसाइटी के प्रवेश द्वारा से रहाणे अपनी बेटी आर्या को गोद में लेकर धीरे-धीरे रेड कारपेट पर चलते हुए घर तक पहुंचे. यह रेड कारपेट उनकी सोसाइटी में रहने वालों ने लगाया था. Also Read - India vs England: चौथे टेस्ट से पहले पिच की आलोचना पर बोले रहाणे 'लोग जो कह रहे है, उन्हें कहने दीजिए'

इसके अलावा सोसाइटी की इमारत के एक खम्भे पर रहाणे का एक आदमकद पोस्टर लगा था, जिस पर लिखा था ‘कांग्रेट्स टू ऑवर परसिस्टेंट पिलर’. काफी बड़ी संख्या में लोग रहाणे के घर के पास जमा थे और सब उन पर फूलों की बारिश कर रहे थे. इसके अलावा ढोल और नगाड़े भी बज रहे थे. Also Read - टेस्ट उप कप्तान के कोच ने कहा- रहाणे के अहम योगदान की तरफ नहीं गया किसी का ध्यान

लोग खुशी से ‘आला रे आला अजिंक्या आला’ का नारा लगा रहे थे. रहाणे की पत्नी राधिका धूपावकर भी रेड कारपेट पर चलीं. रहाणे के अलावा मुख्य कोच रवि शास्त्री, बल्लेबाज रोहित शर्मा, पेसर शार्दूल ठाकुर, ओपनर पृथ्वी शॉ भी गुरुवार को मुम्बई पहुंचे.

ब्रिस्बेन टेस्ट के हीरो रहे ऋषभ पंत (Rishabh Pant) गुरुवार को सुबह नई दिल्ली में उतरे. उधर, शानदार प्रदर्शन करते हुए कुल 13 विकेट हासिल करने वाले तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज अपने घर हैदराबाद पहुंचे. घर पहुंचकर सिराज सबसे पहले अपने पिता की कब्र पर गए, जिनका निधन उस समय हो गया था, जब सिराज आस्ट्रेलिया में थे.

आस्ट्रेलिया में तीनों फारमेट में डेब्यू करने वाले पेसर नटराजन जब अपने गांव चिन्नापाम्पाती पहुंचे तो उनका जोरदार स्वागत हुआ. गांववाले उन्हें रथ में लेकर उनके घर तक पहुंचे और इस दौरान पूरे रास्ते में वहां का स्थानीय वाद्ययंत्र चेंदा बजता रहा. इसी तरह तेज गेंदबाज टी. नटराजन जब तमिलनाडु के सालेम स्थित अपने गांव पहुंचे तो उन्हें गांव वालों ने रथ पर बैठाकर घुमाया.

भारत ने चार मैचों की सीरीज में आस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया. अब भारतीय टीम इंग्लैंड के साथ लम्बी सीरीज खेलेगी, जिसमें चार टेस्ट, पांच वनडे और तीन टी-20 मुकाबले होने हैं. अब भारतीय खिलाड़ी 26 जनवरी को चेन्नई में जमा होंगे, जहां वे इंग्लैंड के साथ होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए 2 फरवरी से अभ्यास शुरू करेंगे.

जो खिलाड़ी आस्ट्रेलिया में खेलने वाली टीम के सदस्य नहीं थे और इंग्लैंड के साथ होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए टीम में चुने गए हैं, वे 23 जनवरी को ही चेन्नई पहुंच जाएंगे. इनमें नेट बॉलर्स और स्टैंडबाई खिलाड़ी शामिल हैं.

इंग्लैंड टीम के अलावा चेन्नई पहुंचने वाले भारतीय खिलाड़ियों को सात दिनों के बायो बबल में रहना होगा. सीरीज 5 फरवरी से खेली जानी है, लिहाजा 26 जनवरी को चेन्नई पहुंचकर भारतीय खिलाड़ी 1 फरवरी को बायो बबल का ड्यूरेशन पूरा कर लेंगे.