नई दिल्ली. T10 लीग को उसके दूसरे सीजन का नया चैम्पियन मिल चुका है. फाइनल मुकाबले में पख्तून्स के खिलाफ दस का दम दिखाते हुए नॉर्दर्न वॉरियर्स शारजाह के शहंशाह बने और इसी के साथ ZEE 5 की टाइटल स्पॉन्सर वाली ये टीम T10 लीग की नई चैम्पियन बनकर भी उभरी. फाइनल मुकाबले में नॉर्दर्न वॉरियर्स ने पख्तून्स के सामने 141 रन का लक्ष्य रखा था, लेकिन वो 7 विकेट खोकर सिर्फ 118 रन ही बना सके और 22 रन से मुकाबला गंवा बैठे.

नॉर्दर्न वॉरियर्स की शुरुआत ढीली

फाइनल मुकाबले में टॉस जीतकर पख्तून्स की टीम ने नॉर्दर्न वॉरियर्स को पहले बल्लेबाजी के लिए उतारा. नॉर्दर्न वॉरियर्स की शुरुआत उम्मीद से थोड़ी ढीली रही. सिमंस 4 रन बनाकर सस्ते में निपट गए तो मैच में छक्के से खाता खोलने वाले इनफॉर्म ओपनर केवल 18 रन की पारी ही खेल सके.

रसेल और पॉवेल का बल्ले से विस्फोट, नॉर्दर्न वॉरियर्स की पारी में लगे 11 छक्के और 14 चौके

रसेल और पावेल का पावरफुल खेल

लेकिन, चौथे ओवर में 40 रन पर दोनों ओपनर के पवेलियन लौटने के बाद नॉर्दर्न वॉरियर्स का असली खेल शुरू हुआ. रसेल और पॉवेल ने विस्फोटक बल्लेबाजी की नुमाइश करते हुए पख्तून्स के गेंदबाजों की अच्छे से खबर ली. रसेल ने 316.66 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए 12 गेंदों पर 38 रन बनाए, जिसमें 3 चौके और 4 छक्के शामिल रहे तो वहीं रोवमैन पॉवेल 25 गेंदों पर 61 रन बनाकर नाबाद रहे. 244 की स्ट्राइक रेट से खेली पॉवेल की पारी में 4 छक्के और 8 चौके शामिल रहे. रसेल और पॉवेल के बल्ले से किए विस्फोट की बदौलत नॉर्दर्न वॉरियर्स की टीम 10 ओवर में 140 के आंकड़े को छूने में कामयाब रही और पख्तून्स के सामने 141 रन का बड़ा लक्ष्य रखा.

पख्तून्स की टीम तेज शुरुआत के बाद बिखरी

जवाब में पख्तून्स ने भी शुरुआत जोरदार की और सिर्फ 4 ओवरों में ही 50 रन बना डाले. इस वक्त तक मुकाबले का तराजू पख्तून्स की ओर ज्यादा झुका लग रहा था लेकिन जैसे ही नॉर्दर्न वॉरियर्स के कप्तान डैरेन सैमी ने गेंद अपने तुरुप के इक्के विल्ज्यॉन को थमाई बाजी पलटते देर नहीं लगी. विल्ज्यॉन ने 2 ओवर में 24 रन देकर 2 विकेट झटके जिसमें अफरीदी का मैच चेंजर विकेट भी शामिल रहा. विल्ज्यॉन के अलावा नॉर्दर्न वॉरियर्स के लिए ग्रीन ने भी 2 विकेट झटके. ग्रीन ने पख्तून्स के दोनों ओपनर्स को अपना निशाना बनाया. पख्तून्स की ओर से सबसे ज्यादा 37 रन इनफॉर्म ओपनर आंद्रे फ्लेचर ने बनाए.

डेब्यू सीजन में ही चैंपियन बने नॉर्दर्न वॉरियर्स

फाइनल में मिली इस जीत से नॉर्दर्न वॉरियर्स ने पख्तून्स के खिलाफ क्वालिफायर में मिली हार का हिसाब भी सूद समेत बराबर कर लिया. बता दें कि ये नॉर्दर्न वॉरियर्स का T10 लीग में पहला सीजन था और पहले ही सीजन वो चैम्पियन बनकर उभरे. वहीं लगातार दूसरी बार पख्तून्स के चैम्पियन बनने का ख्वाब अधूरा रह गया. T10 लीग के पिछले सीजन में पख्तून्स प्ले ऑफ से आगे नहीं बढ़ पाई थी.