भारत में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में कुछ फैंस ने टी20 विश्व कप देश से बाहर होने की आशंका जतानी शुरू कर दी थी. परंपरा यही है कि आईसीसी बैकअप में विकल्प तैयार रखता है और पिछले एक साल से वह विकल्प यूएई है. हालांकि इन अटकलों पर बीसीसीआई ने अपना आधिकारिक बयान दिया है. बीसीसीआई को यकीन है कि टी20 विश्व कप अक्टूबर में भारत में ही होगा हालांकि इसे नौ की बजाय पांच शहरों में कराया जा सकता है.Also Read - विराट कोहली नहीं, दिनेश कार्तिक ने Babar Azam को बताया सभी फॉर्मेट में 'नंबर-1' बनने के काबिल

आईपीएल इस समय बायो बबल में हो रहा है लेकिन बीसीसीआई के सामने असल चुनौती टी20 विश्व कप प्रतिकूल परिस्थितियों में कराने की है. बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि अभी पांच महीने का समय है और लोगों को टीके मिल रहे हैं तो विश्व कप भारत में ही होगा. यह हो सकता है कि नौ शहरों की बजाय मैच चार या पांच शहरों में हो.’’ Also Read - जून में टी20 और वनडे सीरीज के लिए श्रीलंका का दौरा करेगी भारतीय महिला क्रिकेट टीम

आईसीसी के एक निरीक्षण दल को 26 अप्रैल को दिल्ली आकर आईपीएल के बायो बबल का जायजा लेना था लेकिन भारत यात्रा पर लगे प्रतिबंध के कारण दौरा स्थगित करना पड़ा. अधिकारी ने कहा, ‘‘उस टीम को इस सप्ताह आना था लेकिन यात्रा प्रतिबंध लागू होने से वे बाद में आयेंगे.’’ Also Read - बीसीसीआई ने उठाया बड़ा कदम, VVS Laxman को सौंपी कोच पद की जिम्मेदारी

आईसीसी के एक प्रवक्ता ने पीटीआई को बताया कि टूर्नामेंट यूएई में कराने पर अभी कोई विचार नहीं किया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘हम हालात पर नजर रखे हुए हैं.इस समय फैसला लेना जल्दबाजी होगा. टीम नहीं आई क्योंकि यूएई से भारत की यात्रा पर प्रतिबंध है.’’

बीसीसीआई महाप्रबंधक (खेल विकास) धीरज मलहोत्रा ने शुक्रवार को बीबीसी से कहा था कि यूएई विकल्प रखा गया है. बोर्ड के अधिकारी ने हालांकि कहा कि परंपरा के तहत यूएई हमेशा दूसरा विकल्प रहता ही है. उन्होंने कहा, ‘‘आईसीसी टूर्नामेंटों के लिये हमेशा एक विकल्प रहता है और पिछले साल आईसीसी की बैठक में तय होने के बाद यूएई विकल्प है. धीरज ने जो कहा, उसमें कुछ नया नहीं है. अगर अगले पांच महीने में हालात समान रहते हैं तो दूसरी योजना तैयार रखनी होगी.’’

श्रीलंका, बांग्लादेश या दूसरे देशों में आईसीसी टी20 विश्व कप तीन या चार शहरों में ही होता है लेकिन भारत में बोर्ड की राजनीति के कारण ऐसा संभव नहीं है. विश्व कप 2011 और टी20 विश्व कप 2016 के आयोजन से जुड़े रहे बोर्ड के अधिकारी ने कहा ,‘‘यहां बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली का शहर (कोलकाता), उपाध्यक्ष राजीव शुक्ल का शहर (लखनऊ), सचिव जय शाह का शहर (अहमदाबाद) और कोषाध्यक्ष अरूण धूमल का शहर (धर्मशाला) है. इसके अलावा मुंबई, चेन्नई , दिल्ली, बैंगलोर और हैदराबाद तो हैं ही.’’