नई दिल्ली: इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस ने मौजूदा टेस्ट श्रृंखला में भारत की तैयारियों की आलोचना पर बचाव करते हुए कहा है कि खराब फॉर्म से जूझ रही मेहमान टीम इससे ज्यादा अभ्यास नहीं कर सकती थी. भारत पांच मैचों की श्रृंखला में 0-2 से पीछे है. तीसरा टेस्ट शनिवार से नॉटिंघम में खेला जायेगा. बेलिस ने मीडिया से कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलिया, भारत और इंग्लैंड जैसी टीमें काफी क्रिकेट खेलती हैं. मुझे यकीन है कि हर कोई अधिक अभ्यास मैच खेलना चाहता है लेकिन यह संभव नहीं है.’’ Also Read - लॉकडाउन के बीच उमेश यादव ने करियर, लव लाइफ से जुड़े दो यादगार लम्‍हों का एक साथ मनाया जश्‍न

Also Read - IND vs AUS: ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर एक ही वेन्‍यू पर हो सकते हैं सभी मैच, CA ने कहा-हम...

उन्होंने कहा, ‘‘खिलाड़ियों को आराम की भी जरूरत होती है. अधिकांश खिलाड़ी सारे मैच ही खेलेंगे लेकिन इसमें अधिक अभ्यास मैच डालने की गुंजाइश नहीं है.’’ Also Read - 'मेरे लिए क्रिकेट के डॉन हैं MS Dhoni, इन्हें पकड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है'

‘गोल्ड’ के लिए ‘सोल्ड’ हुए वीरेन्द्र सहवाग, अक्षय कुमार को दिया स्पेशल मैसेज

भारत ने श्रृंखला से पहले एक ही अभ्यास मैच खेला. पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने इसकी आलोचना करते हुए कहा था कि टीम को और अभ्यास मैच खेलने चाहिये थे. बेलिस ने कहा, ‘‘हम अभ्यास मैच खेलते हैं जितने होते हैं. इसके बाद सवाल पूछे जाते हैं कि क्या तैयारी सही थी. हम और अभ्यास मैच खेलना पसंद करते लेकिन सप्ताह में दस दिन नहीं होते.’’ इंग्लैंड के प्रदर्शन पर कोच ने कहा कि वह अब तक खेल के हर पहलू से संतुष्ट हैं. उन्होंने कहा, ‘‘पहले टेस्ट में मुकाबला रोचक था लेकिन दूसरे में हमने दबाव बनाया और कायम रखा.’’

टीम इंडिया के बल्लेबाजों से उठा सुनील गावस्कर का भरोसा, दे दिया बड़ा बयान

बेलिस ने क्रिस वोक्स की तारीफ की जिसने दूसरे टेस्ट में बल्ले और गेंद दोनों से अच्छा प्रदर्शन किया. उन्होंने कहा, ‘‘वोक्स की टीम में काफी इज्जत है. उसने गेंद और बल्ले से पिछले कुछ साल में काफी मेहनत की है. वह उन खिलाड़ियों में से है जो सचमुच अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं.’’ उन्होंने यह भी कहा कि वोक्स टीम में जेम्स एंडरसन की जगह ले सकते हैं लेकिन अभी एंडरसन अगले तीन चार साल और खेल सकते हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘जिम्मी इस तरह के हालात में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज है. उसे इन हालात में खेलना किसी भी बल्लेबाज की असल परीक्षा है. मुझे नहीं लगता कि अगले तीन चार साल वह रिटायर होगा. जब तक वह फिट है, खेल सकता है.’’