नई दिल्ली. हर नए सीजन के साथ अमूमन टीम इंडिया की जर्सी का रंग या अंदाज बदल ही जाता है. अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भी ऐसा देखने को मिलेगा. लेकिन, इस बार जर्सी के बदलने से भी बड़ी खबर उसमें लगा चिप होगा, जो भारतीय टीम को और भी ज्यादा हाईटेक बनाएगा. फिटनेस को तव्वजो देने वाली चीकू यानी विराट की टीम अब आने वाली सीरीज में चिप लगी जर्सी पहनेगी. वर्ल्ड क्रिकेट में ये प्रयोग करने वाली विराट एंड कंपनी पहली टीम होगी. चिप से लगी जर्सी का ट्रायल भारतीय टीम अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में करेगी. बेशक, इस एकमात्र टेस्ट के दौरान रेग्यूलर कप्तान विराट टीम का हिस्सा नहीं होंगे लेकिन रहाणे की अगुवाई में उनकी टीम इस ट्रायल को अंजाम देगी. बता दें कि इस ट्रायल के सफल रहने के बाद ही इसका प्रयोग आगे की सीरीज के दौरान किया जाएगा.

‘चिप’ वाली जर्सी के फायदे

अब जरा इस चिप वाली जर्सी के फायदे क्या क्या होंगे वो भी जान लीजिए. इसका सबसे बड़ा एडवांटेज ये होगा कि इससे सभी खिलाड़ियों के फिटनेस संबंधी डाटा कलेक्ट किए जाएंगे. इससे खिलाड़ियों की स्पीड, उनके हार्ट बीट को आसानी से मापा जा सकता है. यहीं नहीं चिप वाली जर्सी पहनने से खिलाड़ी भागते समय कितना बैलेंस में रहता है इसका भी पता चल सकेगा. इसके अलावा खिलाड़ी जिम में हो या मैदान पर पसीना बहा रहे हो उनकी हर्ट रेट के बारे में इस चिप से पता किया जा सकता है.

फुटबॉल में हो चुका है प्रयोग

इंटरनेशनल क्रिकेट में तो ये प्रयोग पहली बार हो रहा है लकिन वर्ल्ड फुटबॉल में इसे पहले आजमाया जा चुका है. मैनचेस्टर यूनाइटेड, लीवरपूल जैसी फुटबॉल टीमें चिल लगी जर्सी को पहनती हैं, जिससे पता चलता है कि मैदान पर भागते हुए उन्होंने कितनी दूरी तय की और उनका हार्ट बीट कैसा है.

ट्रायल सफल रहा तो मिलेगी हरी झंडी

बहरहाल, अफगानिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया चिप वाली जर्सी का ट्रायल करेगी, उसके बाद ही इसकी आधिकारिक पुष्टि की जाएगी और एक बार जब इस जर्सी पर आधिकारिक मुहर लग गई तो फिर इसका इस्तेमाल इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली सीरीज में भी हो सकेगा.