नई दिल्ली. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 वनडे मैचों की सीरीज फिलहाल 2-2 बराबरी पर है. ऐसे में अब दिल्ली में होने वाले आखिरी मुकाबले से सीरीज का फैसला होगा. मोहाली में हार के बाद भारतीय कप्तान कोहली पहले ही ये कह चुके हैं कि दिल्ली का मुकाबला रोमांचक होगा. शायद इस वजह से भी कि दिल्ली उनका होम ग्राउंड है. और, सिर्फ उनका ही नहीं बल्कि मोहाली के मैदान पर शतक ठोकने वाले शिखर धवन का भी ये होम ग्राउंड है. पर, इसके बावजूद दिल्ली जीतने के लिए धोनी को बुलाने की मांग तेज होने लगी है.

फैंस की डिमांड- धोनी बुलाओ

मोहाली में हार के बाद फैंस ने ये अपील की है कि धोनी को दिल्ली वनडे के लिए टीम में शामिल किया जाए.

कोटला के आंकड़े माही के साथ

बता दें कि धोनी को आखिरी 2 वनडे से आराम दिया गया है. ऐसे में दिल्ली में उनका खेलना मुमकिन नहीं है. अब अगर धोनी दिल्ली वनडे में नहीं खेलेंगे तो इसके साइड-इफेक्ट क्या होंगे वो देखिए. भारत की मौजूदा टीम में धोनी दिल्ली के फिरोजशाह कोटला पर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं. धोनी ने कोटला पर वनडे की 7 पारियों में 65 की लाजवाब औसत से 260 रन बनाए हैं. कोटला पर ओवलऑल सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों में धोनी सचिन और अजहर के बाद तीसरे बल्लेबाज हैं. इसके अलावा धोनी का कीपिंग वाला कमाल तो जगजाहिर है ही, जिसका नुकसान उनके न होने से टीम इंडिया को मोहाली में उठाना पड़ा.

धोनी को आखिरी 2 वनडे से आराम

मतलब साफ है कि धोनी के होने से दिल्ली में टीम इंडिया की सीरीज जीतने की उम्मीद बढ़ सकती थी. पर हकीकत ये है कि फिलहाल वो टीम से बाहर आराम पर हैं.