नई दिल्ली. वाइजैग में भारत और वेस्टइंडीज, दोनों ही ओर से रनों की जोरदार बारिश हुई. रनों की इस बारिश का क्रिकेट फैंस ने भरपूर आनंद उठाया. लेकिन, इसके बाद घटी एक घटना, जो कि विराट कोहली की कप्तानी के लिए बिल्कुल नई थी. कोहली की कमान में टीम इंडिया के साथ क्रिकेट फील्ड पर ऐसा पहली बार हुआ था. भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेला गया वाइजैग वनडे टाई हो गया.

विराट कोहली की ‘गलती’ से टाई हुआ भारत-वेस्टइंडीज दूसरा वनडे मैच

भारत का 9वां, कप्तान कोहली का पहला

वनडे क्रिकेट के इतिहास में टीम इंडिया का ये 9वां टाई मैच था. इस मामले में उसने ऑस्ट्रेलिया की बराबरी कर ली थी. लेकिन, विराट कोहली की कप्तानी करियर के लिए ये पहला अनुभव था. कहने का मतलब ये कि टीम इंडिया को इसकी आदि थी पर विराट नहीं.

विंडीज के नाम सबसे ज्यादा टाई मैच

वनडे क्रिकेट में वेस्टइंडीज का ये 10वां टाई मैच था, जो कि एक रिकॉर्ड है. यानी, इस बुनियाद पर भारत दूसरा सबसे ज्यादा टाई मैच खेलने वाला देश है. भारत के साथ ऑस्ट्रेलिया ने भी 9 टाई मैच खेले हैं. इसके अलावा इंग्लैंड और पाकिस्तान ने 8 टाई मैच खेले जबकि जिम्बाब्वे ने 7 टाई मैच खेले हैं.

विराट कोहली को ‘ब्रैडमैन’ नहीं ‘ब्रेकमैन’ कहिए जनाब

पिछले 4 वनडे में 2 टाई

खास बात ये है कि पिछले 4 वनडे मुकाबलों में भारत का ये दूसरा टाई मैच भी था. वेस्टइंडीज के खिलाफ वाइजैग वनडे से पहले एशिया कप में अफगानिस्तान के खिलाफ खेला गया वनडे मुकाबला भी टाई रहा था. हालांकि, उस मैच में टीम की कमान धोनी ने संभाली थी.

स्ट्रॉस के बाद विराट

वाइजैग में वेस्टइंडीज से हुए टाई मैच में विराट कोहली ने नाबाद 157 रन बनाए, जो कि टाई हुए मैच में बनाया गया दूसरा सबसे बड़ा निजी स्कोर है. टाई मैच में सबसे ज्यादा 158 रन बनाने का रिकॉर्ड इंग्लैंड के एंड्रयू स्ट्रॉस के नाम है. स्ट्रॉस ने ये रन साल 2008 में भारत के खिलाफ खेले बेंगलुरु वनडे में बनाए थे.